शिक्षा मंत्री सहकारिता मंत्री ने उच्च माध्यमिक विद्यालय भवन का किया लोकापर्ण

राजस्थान

निम्बाहेड़ा में राजस्थान सरकार के शिक्षा मंत्री डाॅ.बी.डी. कल्ला एवं सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने शुक्रवार को पंचायत समिति सभागार में शिक्षा विभाग अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। जिसके अन्तगर्त चित्तौड़गढ़ जिले के शिक्षा अधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए राजस्थान के शिक्षा मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला ने कहा कि राष्ट्रीय सवेर् में पूरे भारतवषर् में राजस्थान राज्य पहले स्थान पर रहा है । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में पूरे राजस्थान की 3800 से अधिक माध्यमिक विद्यालयों को क्रमोन्नत करके उच्च माध्यमिक में क्रमोन्नत कर दिया गया है ।

रीट परीक्षा से भी ऐतिहासिक संख्या में दस हजार से अधिक शिक्षकों की भतीर् की जा रही है । महात्मा गांधी विद्यालयों में गरीब विद्याथिर्यों को अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिलेगा । महात्मा गांधी विद्यालयों में भी 10,000 से अधिक शिक्षकों की भतीर् करने जा रही है। प्रारम्भ में शिक्षा मंत्री डाॅ. कल्ला एवं सहकारिता मंत्री आंजना ने सभागार में माॅ सरस्वती की तस्वीर पर माल्यापर्ण कर द्वीप प्रज्जवलि किया।  डाॅ. कल्ला एवं सहकारिता मंत्री आंजना के बैठक स्थल पर पहुॅचने पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने गुलदस्ता भेटकर ढोल नगाडो के साथ स्वागत अभिनंदन किया।

Read More :हिंडौन में 4 साल की बच्ची से रेप ,मासूम को उठाकर ले गया दरिंदा, सुबह मिली लहुलुहान

 मंत्री ने बच्चो को दी शिक्षा

डाॅ.बी.डी. कल्ला मंत्री ने कहां है कि बच्चों को नैतिक शिक्षा भी प्रदान की जाए ताकि वे राष्ट्र के उत्तरदाई नागरिक बनकर राष्ट्र का नाम रोशन करें । शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों से आनंददायी शिक्षा प्रदान करने का आह्वान किया । मंत्री ने सरकार की सभी फ्लैगशिप योजनाओं को अधिकारी पूरी इमानदारी और मेहनत के साथ लागू करने का आह्वान किया। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार ने विद्यालयों में एसडीएमसी विद्यालय प्रबंधन एवं विकास समिति को मजबूत किया है ताकि वे विद्यालय में होने वाले विकास एवं शिक्षण कायर् की अच्छी तरह से मॉनिटरिंग कर सके।

डॉक्टर बी डी कल्ला ने इस अवसर पर कहा जिला कलेक्टर को आदेशित किया कि विद्यालयों में निमार्ण कायर् कराने के लिए मनरेगा को निमार्ण कायर् से जोड़ें ताकि कम लागत में अधिक मात्रा में निमार्ण कायर् हो सके।
सहकारिता मंत्री आंजना ने कहा है कि महात्मा गांधी विद्यालयों में नई भतीर् करते समय शिक्षकों से 5 साल तक ग्रामीण क्षेत्र में सरकारी सेवा करने का वचन लिया जाए ताकि ग्रामीण क्षेत्रों की स्कूल खाली नहीं रहे। मंत्री आंजना ने उपस्थित अधिकारियों को निदेर्शित करते हुए कहा की रमसा के निमार्ण कायोर् में गुणवत्ता से समझौता नहीं होना चाहिए।

बैठक में जिला कलेक्टर अरविंद पोसवाल, उपखण्ड अधिकारी चंद्रशेखर भंडारी, विकास अधिकारी कुशलेश्वर सिंह , संयुक्त निदेशक अंजलीका पलोत, सीबीईओ इंदिरा गुप्ता सहित शिक्षा विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Read More :करौली में नरेगा साइट का न्यायाधीश ने किया औचक निरीक्षण