Wednesday, July 17, 2024
Homeक्राइमभाजपा विधायक के बेटे के घर लोकायुक्त की छापेमारी, मिला नकदी का...

भाजपा विधायक के बेटे के घर लोकायुक्त की छापेमारी, मिला नकदी का पहाड़

कर्नाटक में लोकायुक्त की एंटी करप्शन विंग ने बड़ी कार्रवाई की। यहां भाजपा विधायक मदल विरुपक्षप्पा के बेटे को 40 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। भाजपा विधायक के बेटे प्रशांत मदल को लोकायुक्त अधिकारियों ने उसके कार्यालय से रिश्वत लेते हुए पकड़ा। करप्शन विंग को भाजपा विधायक के कार्यालय से 1.7 और घर से करीब छह करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। लोकायुक्त को रिश्वत मांगने की शिकायत मिली थी। लोकायुक्त की इस कार्रवाई के बाद मदल विरुपक्षप्पा ने कर्नाटक साबुन और डिटर्जेंट लिमिटेड के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया।

दो बार विधायक चुने जा चुके हैं मदल

मदल विरुपक्षप्पा लगातार दो बार दावणगेरे जिले के चन्नागिरी निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं। उन्होंने 2018 के विधानसभा चुनाव में अपने हलफनामे में 5.73 करोड़ रुपये की संपत्ति का खुलासा किया था। 2013 के चुनावों में, उन्होंने 1.79 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की थी।

भाजपा विधायक मदल ने दिया इस्तीफा

बेटे के घूस लेते पकड़े जाने के बाद भाजपा विधायक मदल विरुपक्षप्पा ने कर्नाटक साबुन और डिटर्जेंट लिमिटेड के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में उन्होंने कहा, ‘मेरे परिवार के खिलाफ कुछ साजिश है। मैं नैतिक जिम्मेदारी के तहत इस्तीफा दे रहा हूं क्योंकि मेरे खिलाफ आरोप हैं।

40 लाख रुपये की रिश्वत लेते भाजपा विधायक का बेटा गिरफ्तार

लोकायुक्त अधिकारियों द्वारा अपने बेटे को 40 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने और उसके घर से 6 करोड़ रुपये नकद बरामद किए जाने के बाद मदल विरुपाक्षप्पा की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दावणगेरे जिले के चन्नागिरी से विधायक विरुपक्षप्पा राज्य के स्वामित्व वाली कर्नाटक साबुन और डिटर्जेंट लिमिटेड के अध्यक्ष हैं। उनके बेटे प्रशांत मदल बैंगलोर जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड (बीडब्ल्यूएसएसबी) में मुख्य लेखाकार हैं।

पांच लोग गिरफ्तार

कर्नाटक लोकायुक्त बीएस पाटिल ने कहा कि जब लोकायुक्त पुलिस ने उनके कार्यालय पर छापा मारा तो उन्होंने 2.2 करोड़ रुपये बरामद किए। इसके बाद जब उन्होंने निवास पर छापा मारा तो 6.10 करोड़ रुपये बरामद किए। इस मामले में पांच लोग को गिरफ्तार किया गया है। प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। इस मामले में किसकी भूमिका क्या है, इसका खुलासा जल्द किया जाएगा।

जांच के दौरान मिले 1 करोड़ 22 लाख कैश

बता दें कि भाजपा विधायक विरुपक्षप्पा के ऑफिस में रेड करके लोकायुक्त अधिकारियों की टीम ने विधायक के बेटे और सरकारी अधिकारी प्रशांत को 40 लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में पकड़ा था। दफ्तर में जांच के दौरान 40 लाख के अलावा 1 करोड़ 22 लाख कैश और भी बरामद हुआ था। जांच अधिकारी के मुताबिक ये स्पष्ट है कि दफ्तर में मिले 1 करोड़ 62 लाख रुपए रिश्वत के पैसे हैं।

उनके आवास पर जो 6 करोड़ रुपए कैश और जेवरात मिले हैं। उसके सोर्स ऑफ इनकम के लेकर आरोपी प्रशांत से पूछताछ की जा रही है। लोकायुक्त सूत्रों ने बताया कि 40 लाख रुपये नकद सौंपने आए प्रशांत के रिश्तेदार सिद्धेश, लेखाकार सुरेंद्र और निकोलस और गंगाधर नाम के दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

छापे पर बोले कर्नाटक सीएम बसवराज बोम्मई

वहीं इस मामले पर कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई का भी बयान सामने आया है। सीएम बोम्मई ने कहा, “अब सब कुछ लोकायुक्त के सामने है, उनकी ओर से स्वतंत्र और न्याय संगत जांच होने दीजिए। ये किसका पैसा है किसके लिए लाया गया, ये सारी बातें सामने आने दीजिए। सच सामने आना जरूरी है, इसलिए हमने लोकायुक्त को बनाया है।

कांग्रेस के नेता क्या कह रहे हैं, पहले उनसे पूछिए कि करप्शन के आरोप में फंसे उनके कई मंत्रियों और विधायकों को बचाने के लिए करप्शन विंग को बंद क्यों कर दिया। अब लोकायुक्त की जांच हो रही है, उनके घोटाले भी सामने आयेंगे। सभी बातों की जांच होने दीजिए, हम सच के साथ हैं जिसकी भी गलती हो उसे सजा जरूर मिलेगी।

read more : शराब घोटाला मामले में सीबीआई की मनीष सिसोदिया से पूछताछ जारी

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments