Thursday, July 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशजल्दबाजी में टूट जाए ट्रैफिक नियम, फिर भी पुलिस नहीं निकाल सकते...

जल्दबाजी में टूट जाए ट्रैफिक नियम, फिर भी पुलिस नहीं निकाल सकते गाड़ी से चाबी

त्यौहार की शॉपिंग की जल्दबाजी में कई बार हम अनजाने में ट्रैफिक नियम तोड़ देते हैं। रोड पर कार हो या मोटरसाइकिल चलाते वक्त ट्रैफिक रूल्स का पालन करना जरूरी होता है | लेकिन, कई बार लोग जल्दबाजी, अनजाने या किसी अन्य वजह से कई सारे नियमों का पालन करना भूल जाते हैं | जैसे बाइक पर हेलमेट लगाना, कार में सीट बेल्ट और रेड लाइट क्रॉस करना आदि | ऐसे में ट्रैफिक पुलिस को वाहन मालिक के खिलाफ कार्रवाई करने का पूरा अधिकार होता है |

ट्रैफिक पुलिस की कार्रवाई के दौरान कई बार कुछ पुलिस वालों की बदसलूकी भी देखने को मिलती हैं | वे कई बार बाइक से बिना इजाजत चाबी निकाल लेते हैं | तो कई बार बिना वजह टायर की हवा निकाल देते हैं. क्या आपने भी सोचा है इस तरह का व्यवहार करना सही है? क्या कानून पुलिस को इस तरह का व्यवहार करने की इजाजत देता है?

जानिए क्या कहता है नियम ?

चेकिंग के दौरान पुलिस को आपकी गाड़ी से चाबी निकालने और हवा निकालने का अधिकार नहीं है. अगर कोई सिपाही आपकी गाड़ी से चाबी निकाल रहा है तो यह नियम के खिलाफ है. नियम के मुताबिक, कॉन्स्टेबल को अरेस्ट करने या किसी भी वाहन को सीज करने का अधिकार नहीं होता है. इंडियन मोटर व्हीकल एक्ट 1932 के तहत कोई असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर या उससे ऊपर की रैंक का अधिकारी ही चालान काट सकता है. सिपाही सिर्फ उनकी मदद के लिए होते हैं.

चाबी नहीं निकाल सकते सिपाही

इसके अलावा ट्रैफिक कॉन्स्टेबल आपकी गाड़ी की चाबी भी नहीं निकाल सकते हैं और न ही वे किसी की गाड़ी की हवा निकाल सकते हैं. ऐसा करने का उन्हें अधिकार नहीं है. इसके अलावा पुलिस आपसे चेकिंग के दौरान गलत व्यवहार भी नहीं कर सकती है. अगर कोई पुलिसकर्मी आपको बेवजह परेशान कर रहा है या आपसे बदसलूकी कर रहा है तो आप किसी सीनियर अधिकारी से इसकी शिकायत कर सकते हैं.

आप इन बातों का भी ध्यान रखें

>>  आपका चालान काटने के लिए ट्रैफिक पुलिस के पास चालान बुक या फिर ई-चालान मशीन होना जरूरी है। यदि इन दोनों में से कुछ भी उनके पास नहीं है तो आपका चालान नहीं काटा जा सकता है।

>>  ट्रैफिक पुलिस का यूनिफॉर्म में रहना भी जरूरी है। यूनिफॉर्म पर बकल नंबर और उसका नाम होना चाहिए। यूनिफॉर्म नहीं होने की सूरत में पुलिसकर्मी को अपना पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा जा सकता है।

>>  ट्रैफिक पुलिक का हेड कॉन्सटेबल आप पर सिर्फ 100 रुपए का ही फाइन कर सकता है। इससे ज्यादा का फाइन सिर्फ ट्रैफिक ऑफिसर यानी ASI या SI कर सकता है। यानी ये 100 रुपए से ज्यादा का चालान कर सकते हैं।

read more : दीवारों पर पर्चे चिपकाकर मांगी सीएम योगी से मदद,घर को उपद्रवियों से बचाएं

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments