Thursday, July 18, 2024
Homeदेशकर्नाटक में बजा चुनावी बिगुल, 10 मई को एक चरण में मतदान,...

कर्नाटक में बजा चुनावी बिगुल, 10 मई को एक चरण में मतदान, 13 मई को नतीजे

कर्नाटक के चुनावी बिगुल का काउंटडाउन शुरू हो गया है। चुनाव आयोग ने आज कर्नाटक विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। कर्नाटक की 224 सीटों पर एक चरण में विधानसभा चुनाव होगा। राज्य में 10 मई को मतदान होगा और 13 मई को नतीजे आएंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि राज्य में 9.17 लाख नए वोटर्स हैं जो पहली बार मतदान करेंगे। 1 अप्रैल को जिनकी उम्र 18 साल हो रही है, वे भी वोट कर सकेंगे।

224 ऐसे बूथ बनाए गए हैं, जिनमें यूथ कर्मचारी तैनात रहेंगे और 100 बूथों पर दिव्यांग कर्मचारी तैनात रहेंगे। बता दें कि कर्नाटक में मुख्य मुकाबला सत्ताधारी बीजेपी और कांग्रेस के बीच है। कांग्रेस इस बार सत्ता में वापसी के लिए पूरी दमखम के साथ जुटी है।

नामांकन की आखिरी तारीख 20 अप्रैल

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए 13 अप्रैल गजट नोटिफिकेशन जारी होगा। नामांकन की आखिरी तारीख 20 अप्रैल होगी। 21 से 23 अप्रैल तक नामांकन की जांच होगी और उम्मीदवार 24 अप्रैल तक अपना नामांकन वापस ले सकेंगे। कर्नाटक में मतदान 10 मई को एक चरण में सपन्न होगा और 13 मई को नतीजे घोषित किए आएंगे। कर्नाटक विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल 24 मई, 2023 को समाप्त हो रहा है। उसस पहले चुनाव संपन्न कराकर नई सरकार का गठन होना है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सीटें आरक्षित

कर्नाटक में कुल 224 विधानसभा सीटों में से 36 अनुसूचित जाति और 15 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। 173 सीटें सामान्य श्रेणी के अंतर्गत हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि 1 अप्रैल तक 18 साल के हो रहे सभी युवा मतदाता कर्नाटक विधानसभा चुनाव में वोट डाल सकेंगे।

चुनाव में ज्यादा उम्र और दिव्यांगों के लिए घर से मतदान की सुविधा

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निष्पक्ष चुनाव करवाना हमारी प्राथमिकता है। 224 विधानसभा सीटें हैं, राज्य में करीब 17 हजार वोटर्स ऐसे हैं जिनकी उम्र 100 साल के पार जा चुकी है। कर्नाटक में 5.22 करोड़ कुल मतदाता हैं। उन्होंने कहा, आयोग का अच्छा फैसला ये है कि 80 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और दिव्यांगों के लिए घर से मतदान की सुविधा शुरू की गई है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 58,000 से अधिक मतदान केंद्र

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 58,000 से अधिक मतदान केंद्र होंगे। इनमें 28,866 शहरी मतदान केंद्र होंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि 1,300 से अधिक मतदान केंद्रों को विशेष रूप से महिलाओं द्वारा संभाला जाएगा। 224 ऐसे बूथ बनाए गए हैं, जिनमें यूथ कर्मचारी तैनात रहेंगे। 100 बूथों पर दिव्यांग कर्मचारी तैनात रहेंगे।

राज्य में 41,000 ट्रांसजेंडर मतदाता के रूप मे पंजीकृत

राज्य में कुल 42,756 ट्रांसजेंडर हैं, जिनमें से 41,000 पंजीकृत हैं। चुनाव आयोग ने कहा कि कुछ लोग खुद को ट्रांसजेंडर के तहत चिन्हित करने में झिझक रहे हैं, लेकिन हम उनसे आगे आने की अपील करते हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि वे आगे आएं और खुद को जिस भी जेंडर कैटेगरी के अंतर्गत रजिस्टर कराना चाहते हैं, कराएं।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में इस बार 9.17 लाख नए वोटर्स

कर्नाटक में इस बार 9.17 लाख नए वोटर्स जुड़े हैं, जो पहली बार मतदान करेंगे। राज्य में 24 मई से पहले चुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि अन्य राज्यों की तुलना में कर्नाटक में चुनाव कराने की अपनी अलग चुनौतियां हैं।

पिछले चुनाव में BJP की 104 सीटों पर जीत

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 104 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं कांग्रेस ने 80 जीती, हालांकि किसी दल को बहुमत नहीं मिला था। ऐसे में कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर सरकार बनाई थी। जेडीएस नेता कुमारस्वामी गठबंधन सरकार में मुख्यमंत्री बने थे लेकिन करीब 14 महीने बाद कई कांग्रेसी विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी के साथ आ गए थे। इससे कुमारस्वामी सरकार गिर गई थी और बीजेपी ने बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में सरकार बनाई थी। हालांकि, 2 साल बाद येदियुरप्पा ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया और बसवराज बोम्मई राज्य के सीएम बने।

read more : उमेश पाल अपहरण केस में अतीक समेत 3 को आजीवन कारावास, 1-1 लाख का जुर्माना

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments