Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश115 से 125 किमी की रफ्तार से आगे बढ़ रहा चक्रवात बिपरजॉय

115 से 125 किमी की रफ्तार से आगे बढ़ रहा चक्रवात बिपरजॉय

गुजरात के तटों की तरफ बढ़ रहा चक्रवात बिपरजॉय बेहद खतरनाक रूप ले चुका है। आज शाम चार से रात आठ बजे के बीच कच्छ के जखाऊ में जमीन से टकराने की आशंका है। मौसम विभाग ने इससे भारी तबाही की चेतावनी दी है। इस बीच, भारतीय मौसम विभाग ने बिपरजॉय को लेकर जानकारी दी है। विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए बताया कि बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान बिपरजॉय आज 16:30 बजे जखाऊ बंदरगाह (गुजरात) से लगभग 80 किमी दक्षिण पश्चिम में है , वहीं देवभूमि द्वारका से यह पश्चिम दक्षिण दिशा में 130 किमी दूर है। आईएमडी ने यह भी बताया कि जखाऊ बंदरगाह के पास आज शाम से लैंडफॉल प्रक्रिया शुरू होगी जो कि आधी रात तक जारी रहेगी।

कल तक बंद रहेंगी व्यवसायिक उड़ानें

भीषण चक्रवात बिपरजॉय को लेकर नोटम (नोटिस टू एयर मिशन0 14 जून डेढ़ बजे से 16 जून 11 बजकर 59 मिनट तक जारी किया गया। इस दौरान कोई भी व्यावसायिक उड़ानें बंद रहेंगी। केवल आपातकालीन और राहत उड़ानों की अनुमति है। जामनगर के एयरपोर्ट निदेशक डीके सिंह ने यह जानकारी दी है। वहीं, गुजरात के मांडवी में तेज हवाएं और भारी बारिश हो रही है। ‘बिपारजॉय’ आज शाम गुजरात तट से टकराएगा।

बिपरजॉय के टकराने से पहले ही स्थिती हुई खराब

गुजरात में बिपरजॉय के टकराने से पहले ही स्थिती खराब हो गई है। यहां भारी बारिश हो रही है। इससे बाढ़ आने का खतरा बढ़ गया है। वहीं, तेज हवाएं भी चल रही है। मौसम विभाग लगातार तूफान की चेतावनी दे रहा है। वहीं, गांधीनगर के राहत कमिश्नर आलोक पांडेय ने बताया कि बिपरजॉय की गति थोड़ी घटी है, लेकिन 110 से 125 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी। उन्होंने कहा कि इतनी रफ्तार से हवाएं चलना बहुत खतरनाक है।

समुद्री किनारों पर तूफान बिपरजॉय का असर

गुजरात में चक्रवात बिपरजॉय का प्रभाव देखने को मिल रहा है। यहां के द्वारका में तेज़ हवाओं के साथ बारिश हो रही है। वहीं, जामनगर में तटीय क्षेत्रों पर ऊंची लहरें उठ रहीं हैं। द्वारका में बिपरजॉय के प्रभाव से टाटा केमिकल्स के पास सड़क पर एक शेड गिर गया। मौके पर एनडीआरएफ की टीमें मौजूद हैं। समुद्री किनारों पर तूफान बिपरजॉय का असर दिख रहा है। यहां समंदर में ऊंची लहरें उठती दिख रहीं है। हालात को देखते हुए यहां तटीय इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई है। पूरे हालात पर दमन प्रशासन नजर बनाए हुए है।

बिपरजॉय के चलते दिल्ली के रेलभवन बनाया कंट्रोल रूम

तूफान बिपरजॉय के चलते रेल सेवाएं भी बाधित हुई हैं। कच्छ, द्वारका और आसपास के 8 जिलों से गुजरनेवाली पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों को मिलाकर कुल 125 से अधिक ट्रेनें कैंसिल की गई हैं। वहीं दवा और राहत सामग्री के लिए ट्रेनों को स्टैंडबाइ पर रखा गया है।

एनडीआरएफ ने 94 हजार लोगों को प्रभावित इलाकों से हटाया

चक्रवात बिपरजॉय से निपटने के लिए एनडीआरएफ की 18 और एसडीआरएफ की 12 टीमें तैनात हैं। हमारे साथ मौसम विभाग समय-समय पर जानकारी साझा कर रहा है। हमने 94 हजार लोगों को प्रभावित इलाकों से हटाया है। कमज़ोर बिल्डिंग, खंबे, पेड़ से इससे प्रभावित होंगे। हम अभी नुकसान का अंदाज़ा नहीं लगा सकते। एयरलिफ्ट के लिए हमने 15 टीमों को अलग-अलग स्थानों पर रखा है।

read more : पुरोला में हालात तनावपूर्ण, महापंचायत के लिए जाने पर लोगों की पुलिस से धक्का-मुक्की

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments