Thursday, July 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशयूपी एसटीएफ ने कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना को एनकाउंटर में किया ढेर

यूपी एसटीएफ ने कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना को एनकाउंटर में किया ढेर

यूपी पुलिस की एसटीएफ ने कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। एसटीएफ ने अनिल दुजाना को मेरठ में एक एनकाउंटर में मार गिराया। अनिल दुजाना ग्रेटर नोएडा का रहने वाला था। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अनिल दुजाना का काफी खौफ था। दुजाना पर 60 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज थे। उत्तर प्रदेश की पुलिस लंबे अर्से से अनिल दुजाना को तलाश रही थी। दिल्ली-एनसीआर के इलाके में भी उसने अपने खौफ साम्राज्य बना रखा था। कुख्यात बदमाश अनिल दुजाना पिछले काफी समय से दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था, लेकिन कुछ समय पहले वह जमानत पर बाहर आ गया।

जेल से बाहर आकर दी थी धमकी

जेल से बाहर आते ही अनिल दुजाना ने जयचंद प्रधान मर्डर केस में उसकी पत्नी और गवाह संगीता को धमकी दी। इसके बाद उच्च अधिकारियों ने एक्शन लेते हुए अनिल दुजाना के खिलाफ पिछले सप्ताह में 2 मुकदमे दर्ज किए। अनिल दुजाना की गिरफ्तारी के लिए नोएडा पुलिस की स्पेशल सेल टीम और एसटीएफ टीम लगी हुई थी। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों के दौरान 7 टीमों ने 20 से भी ज्यादा स्थानों पर लगातार छापेमारी कर रही थी।

बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था अनिल दुजाना

यूपी एसटीएफ को ऐसी खुफिया सूचना मिली थी कि अनिल दुजाना मेरठ के एक गांव में आपराधिक वारदात को अंजाम देने के लिए आने वाला है। इसी खबर पर एसटीएफ ने घेराबंदी की। एसटीएफ की टीम से खुद घिरा देख अनिल दुजाना ने गोलीबारी शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक अनिल दुजाना अकेले स्कार्पियो गाड़ी में सवार था और वह मेरठ अपने गुर्गों से मिलने जा रहा था। एसटीएफ पर दुजाना की तरफ से कुल 15 राउंड फायरिंग की गई जबकि एसटीएफ की तरफ से 6 राउंड फायरिंग की गई। एनकाउंटर में दोनों तरफ से कुल मिलाकर 21 राउंड फायरिंग हुई।

सुंदर भाटी से थी अनिल दुजाना की दुश्मनी

अनिल दुजाना हत्या, फिरौती, डकैती, जमीन कब्जा और सुपारी लेकर हत्या का गैंग चलाता था। गैंगस्टर सुंदर भाटी अनिल दुजाना का कट्टर दुश्मान था। अनिल दुजाना ने अपने साथियों के साथ मिलकर गाज़ियाबाद के भोपुरा इलाके में एक फार्महाउस में सुंदर भाटी पर उसके साले की शादी में अटैक किया था। इसमें उसका साथ गैंगस्टर रणदीप ने भी दिया था, हालांकि उस हमले में सुंदर भाटी बच निकला था। इस हमले में एके47 का इस्तेमाल हुआ था, इसमे तीन लोग मारे गए थे। उसके बाद साल 2014 में सुंदर भाटी गैंग ने बदला लेने के लिए अनिल दुजाना के घर पर हमला किया था, जिसमें अनिल दुजाना का भाई जय भगवान की मौत हो गयी थी।

यूपी समेत कई राज्यों केस दर्ज थे

अनिल दुजाना पर यूपी समेत अन्य राज्यों में लगभग 50 हत्या, रंगदारी, फिरौती आदि के केस दर्ज हैं। ​​​​​​​बादलपुर का अनिल दुजाना गांव कभी कुख्यात सुंदर नागर उर्फ सुंदर डाकू के नाम से जाना जाता था। सत्तर और अस्सी के दशक में सुंदर का दिल्ली-एनसीआर में खौफ था। उसने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तक को जान से मारने की धमकी दे दी थी। इसी दुजाना गांव का है अनिल नागर उर्फ अनिल दुजाना, पुलिस रिकॉर्ड में 2002 में गाजियाबाद के कवि नगर थाने में इसके खिलाफ हरबीर पहलवान की हत्या का पहला मुकदमा दर्ज हुआ।

यूपी में बदमाशों का एनकाउंटर जारी

यूपी में अपराधियों की शामत आई हुई है। योगी सरकार ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति के तहत अपराधियों की कमर तोड़ने में लगी हुई है। उमेश पाल हत्याकांड के बाद माफियाओं को मिट्टी में मिलाने की हुंकार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सच कर दिया है। माफिया अतीक अहमद के छोटे बेटे असद और शूटर गुलाम का झांसी में एनकाउंटर के बाद अब कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना भी मारा गया है। इसके साथ ही यूपी में एनकाउंटर में मारे गए कुख्यात अपराधियों का आंकड़ा 184 हो गया है। यूपी में हुए एनकाउंटर में अब गैंगस्टर अनिल दुजाना का नाम भी जुड़ गया। अप्रैल में उमेश पाल हत्याकांड में आरोपी असद और उसके सहयोगी गुलाम दोनों एनकाउंटर में मारे गए। इस एनकाउंटर के बाद यूपी में सियासी बयानबाजी देखने को मिली थी।

read more : पहलवानों ने दी मेडल वापस करने की धमकी, बॉर्डर इलाकों में पुलिस अलर्ट पर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments