Thursday, July 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशउमेश पाल हत्याकांड के 100 दिन पूरे आखिर कहा है गुड्डू मुस्लिम,...

उमेश पाल हत्याकांड के 100 दिन पूरे आखिर कहा है गुड्डू मुस्लिम, शाइस्ता परवीन ?

बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल और दो सरकारी गनर के हत्याकांड के 100 दिन पूरे हो गए हैं, लेकिन उमेश पाल हत्याकांड के 100 दिन बाद भी 5 – 5 लाख के इनामी 3 शूटर्स पुलिस की पकड़ से दूर हैं। बमबाज गुड्डू मुस्लिम, अरमान और साबिर अभी भी फरार चल रहे हैं और जांच एजेंसियों के लिए चुनौती बने हुए हैं। इसके अलावा माफिया अतीक की पत्नी और 50 हजार की इनामी शाइस्ता परवीन भी फरार है।

हालांकि, फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ व दूसरी जांच एजेंसियां लगी हुई हैं। इस बीच एसटीएफ सूत्रों का दावा है कि मध्य प्रदेश, ओडिशा, झारखंड और महाराष्ट्र के नासिक में सर्च ऑपरेशन के बाद भी फरार शूटर्स का पता नहीं चला है। जांच एजेंसियों को आशंका है कि शूटर्स विदेश भाग गए हैं। जांच एजेंसियों को शूटर्स के नेपाल के रास्ते विदेश भागने की आशंका है। एसटीएफ सूत्रों के मुताबिक फरार शूटर्स लगातार लोकेशन बदल रहे थे। इसके अलावा मोबाइल का इस्तेमाल बंद कर देने की वजह से भी शूटर्स की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

धूमनगंज थाने में दर्ज हुई थी एफआईआर

गौरतलब है कि 24 फरवरी 2023 को उमेश पाल और दो सरकारी गनर की हत्या हुई थी। हत्याकांड के अगले दिन 25 फरवरी को उमेश पाल की पत्नी जयापाल ने धूमनगंज थाने में हत्या की एफआईआर दर्ज कराई थी। जया पाल ने एफआईआर में माफिया अतीक अहमद, भाई अशरफ, बेटों, पत्नी शाइस्ता परवीन, शूटर्स गुड्डू मुस्लिम, साबिर, अरमान, मोहम्मद गुलाम को और अन्य को आरोपी बनाया था।

हत्याकांड में शामिल चार का हुआ एनकाउंटर

बता दें कि अब तक की कार्रवाई में पुलिस एनकाउंटर में चार आरोपी मारे जा चुके हैं। सबसे पहले 27 फरवरी को पहला एनकाउंटर धूमनगंज थाना क्षेत्र के नेहरू पार्क में क्रेटा चालक अरबाज का हुआ था। जबकि; 6 मार्च को कौंधियारा थाना क्षेत्र में उमेश पाल पर पहली गोली चलाने वाला विजय चौधरी उर्फ उस्मान पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। माफिया अतीक अहमद का बेटा असद और शूटर मोहम्मद गुलाम 13 अप्रैल को झांसी में यूपी एसटीएफ के एनकाउंटर में मारे गए थे। वहीं उमेशपाल हत्याकांड में आरोपी अतीक अहमद और अशरफ की 15 अप्रैल को पुलिस कस्टडी में काल्विन अस्पताल ने तीन शूटर्स ने हत्या कर दी थी। यहां यह भी बता दें कि हत्याकांड से जुड़े कई आरोपी जेल में बंद हैं।

हत्याकांड से जुड़े हैं इन शातिरों के नाम

इस हत्याकांड में नामजद अभियुक्तों के अलावा विवेचना के दौरान माफिया अतीक अहमद की बहन आयशा नूरी और अशरफ की पत्नी जैनब फातिमा का भी नाम सामने आया है। जांच एजेंसियां इन दोनों महिलाओं की भी सरगर्मी से तलाश कर रही हैं। धूमनगंज थाना पुलिस ने अभी सिर्फ एक आरोपी सदाकत खान के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। विवेचना के दौरान सदाकत का नाम सामने आने के बाद इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के मुस्लिम बोर्डिंग हॉस्टल से सदाकत खान की गिरफ्तारी हुई थी।

read more : ओडिशा में तीन ट्रेनों की टक्कर में अब तक 288 लोगों की मौत,1000 से ज्यादा घायल

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments