Wednesday, July 17, 2024
Homedelhiजैन समाज की उपेक्षा का भाजपा को चुनाव में होगा नुकसान-गौरव जैन

जैन समाज की उपेक्षा का भाजपा को चुनाव में होगा नुकसान-गौरव जैन

दिल्ली में नगर निगम के चुनाव होने जा रहे है। जिसमे महापौर के साथ ही नगर निगम के पार्षद पद हेतु भी चुनाव होंगे। पार्षद के चुनाव भी बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। दिल्ली जैसे निगम का पार्षद होना स्वयं में सम्मान की बात है। ऐसे में आम आदमी पार्टी के द्वारा जैन समाज के पांच प्रत्याशी पार्षद पद के लिये चुनाव में उतारे गए हैं। जो कि वार्ड 25 बुध विहार से अमृत लाल जैन, 57 पीतम पूरा से संजू जैन, 153 वसंत विहार से हिमानी जैन, 206 आनंद विहार से राहुल जैन, 226 गौतम पूरी से अनिल जैन है साथ ही कॉंग्रेस पार्टी ने भी चार ही जैन समाज के लोगो को पार्षद लड़ाने की घोषणा की है।

जिनमे 221 अशोक नगर से नीति गर्ग जैन, 99 हरी नगर से दिनेश जैन, 63 त्रिनगर से जूही गर्ग जैन, 21रोहिणी से जगदीश जैन हैं वही भाजपा ने जैन समाज के साथ अन्याय करते हुए सिर्फ एक जैन भाई को चुनाव लड़ाने की घोषणा की ही जो कि जैन समाज के साथ धोखे जैसा है। जैन एकता मंच इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता है। इस अवसर पर जैन एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष सतीश जैन ने मंच की ओर से कहा कि जैन एकता मंच आप व कॉंग्रेस पार्टी के इस कदम की सराहना करता है व बहुत धन्यवाद भी देता है साथ ही विश्वास दिलाता है

समस्त जैन समाज अपने प्रत्याशियों को जिताने के लिए समर्पण भाव से काम करेगा व अन्य सीटो पर भी दोनों दलों को इसका लाभ होगा व भाजपा ने जैन समाज के साथ धोखा किया है। जो जैन समाज धन बल व वोट के साथ भाजपा का सहयोग करता रहा है। वह आज भाजपा की और से स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहा है व चुनाव में इसका खामियाजा भाजपा को भुगतना पड़ेगा।

अधिकारों के प्रति जागरूक व एकजुट है जैन समाज

युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव जैन ने कहा कि जैन समाज अब सिर्फ मंच,माला या माइक की वस्तु नही है। समाज अपने अधिकारों के प्रति जागरूक व एकजुट है जो दल जैन समाज को राजनैतिक अधिकार देगा। समाज अब उसी की बात करेगा। हम किसी के बंधक नही है। जो दल जैनो को चुनाव का अवसर देंगे। उन्ही का जैनो के वोट पर अधिकार भी है। अन्यथा जैनो की उपेक्षा अगर की जाएगी तो उस दल को निश्चित तौर पर चुनाव में भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

जैन एकता मंच,दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद जैन ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी गण एकजुट होकर अपने प्रत्याशियों को भारी बहुमत से जिताने के लिये काम करेंगे। आज समाज को यह शपथ लेनी चाहिए कि जिन दलों ने जैन समाज के प्रत्याशी उतारे हैं। उनका हृदय से सहयोग करें और जिताने का कार्य करें ताकि यह अन्य दलों के लिये भी यह एक मिसाल बन सके।

read more : कॉन्ट्रैक्ट समाप्त होने पर क्यों नहीं जारी हुआ टेंडर , हाई कोर्ट ने लगायी फटकार

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments