Thursday, July 18, 2024
Homeदेशखालिस्तानी समर्थकों के हमले के बाद बैकफुट पर पुलिस, रिहा होगा लवप्रीत...

खालिस्तानी समर्थकों के हमले के बाद बैकफुट पर पुलिस, रिहा होगा लवप्रीत तूफान

अमृतसर के अजनाला में गुरुवार को जमकर बवाल हुआ। अजनाला पुलिस स्टेशन पर काफी संख्या में जुटे खालिस्तान समर्थकों ने धावा बोल दिया। समर्थकों के हाथ में तलवारें-बंदूक और लाठी-डंडे थे। वारिस पंजाब दे’ संगठन के प्रमुख अमृतपाल सिंह और उसके समर्थकों ने अपने सदस्य लवप्रीत तूफान की रिहाई की मांग को लेकर जमकर बवाल काटा। हथियारबंद उपद्रवियों ने उत्पात मचाया तो उनके सामने पुलिस भी नाकाम दिखी। देखते ही देखते अमृतपाल सिंह और उसके समर्थकों ने पुलिस स्टेशन को कब्जे में ले लिया। अमृतपाल सिंह के करीबी लवप्रीत को पुलिस ने अगवा और मारपीट के आरोप में हिरासत में लिया था, जिसकी रिहाई के लिए बड़ा बवाल मचा।

एसआईटी करेगी जांच

वारिस पंजाब दे संगठन के प्रमुख अमृतपाल के साथियों पर दर्ज मामलों की जांच अब स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) करेगी। पुलिस के इस आश्वासन के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने थाने के बाहर धरना जारी रखा है। पंजाब पुलिस बार्डर जोन के आईजी मुनीष चावला और अमृतसर (ग्रामीण) के एसएसपी सतिंदर सिंह का कहना है कि वारिस पंजाब दे के प्रतिनिधियों के साथ पुलिस अधिकारियों की बैठक हो गई है। संगठन के कार्यकर्ताओं ने धरना वापस लेने की बात मान ली और आश्वासन दिया कि कार्यकर्ता किसी भी तरह माहौल खराब नहीं करेंगे।

लवप्रीत तूफान को पुलिस ने लिया था हिरासत में

दरअसल, खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह और उसके समर्थकों पर चमकौर साहिब निवासी वरिंदर सिंह को अगवा करने और मारपीट करने का आरोप लगाया गया था। बरिंदर सिंह ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया था कि अमृतपाल सिंह के साथियों ने उसे अजनाला से अगवा कर लिया था और एक अज्ञात स्थान पर ले गए जहां उसकी बेरहमी से पिटाई की गई। उसकी इस शिकायत पर पुलिस ने अमृतपाल सिंह और समर्थकों पर केस दर्ज किया था और इस मामले में पुलिस ने अमृतपाल के करीबी लवप्रीत तूफान को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी।

रिहा होगा लवप्रीत तूफान

अमृतपाल सिंह और उनके समर्थकों का कहना था कि लवप्रीत की कोई गलती नहीं थी। इसके बाद आज पंजाब पुलिस हंगामे के बाद बैकफुट पर आ गई है और कहा है कि लवप्रीत को रिहा किया जाएगा। अमृतसर के एसएसपी ने कहा है कि लवप्रीत तूफान को रिहा किया जा रहा है क्योंकि उन्होंने सबूत पेश किए कि वह मौके पर मौजूद नहीं था। हम इसे कोर्ट में जमा कर रहे हैं। एहतियात के तौर पर फोर्स तैनात किया गया है और स्थिति नियंत्रण में है। अजनाला कोर्ट ने तूफ़ान सिंह के रिलीज़ करने के ऑर्डर दे दिए हैं और अब थोड़ी देर में अमृतसर जेल से लवप्रीत तूफ़ान सिंह रिहा होगा।

खालिस्तान की मांग क्यों नहीं कर सकते

‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह ने कहा कि हम खालिस्तान के मामले को बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से आगे बढ़ा रहे हैं। जब लोग हिंदू राष्ट्र की मांग कर सकते हैं तो हम खालिस्तान की मांग क्यों नहीं कर सकते।अमृतपाल ने कहा कि दिवंगत पीएम इंदिरा गांधी को खालिस्तान का विरोध करने की कीमत चुकानी पड़ी थी और हमें कोई नहीं रोक सकता, चाहे वह पीएम मोदी या अमित शाह हों या भगवंत मान। मुझ पर और मेरे समर्थकों पर लगाए गए आरोप झूठे हैं। बता दें कि अमृतसर पुलिस ने अभी तक यह साफ नहीं किया कि गुरुवार को हुई हिंसा को लेकर अमृतपाल सिंह या उनके समर्थकों के खिलाफ कोई मामला दर्ज किया गया है या नहीं।

read more : एंटी मेटल की खोज ने भौतिक वैज्ञानिक को दिलाया नोबेल पुरस्कार

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments