Thursday, July 18, 2024
Homeदेशमहिला हो कुश्ती महासंघ की चीफ, खेल मंत्री के सामने पहलवानों ने...

महिला हो कुश्ती महासंघ की चीफ, खेल मंत्री के सामने पहलवानों ने रखीं मांगें

बीजेपी सांसद और कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली और विरोध-प्रदर्शन करने वाले पहलवानों ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से आज (बुधवार) मुलाकात कर अपनी पांच मांगें रखीं हैं। पहलवानों ने कहा है कि किसी महिला को ही भारतीय कुश्ती महासंघ का चीफ होना चाहिए। वार्ता के लिए देर रात ट्विटर पर आमंत्रित किए जाने के बाद पहलवान बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक ने आज खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ उनके घर पर जाकर बातचीत की। पांच दिनों के अंदर पहलवानों और सरकार के बीच यह दूसरी बैठक थी।

पहले भी ने गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात

इससे पहले पहलवानों ने शनिवार देर रात गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी और सात महिला पहलवानों द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप झेल रहे बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। आज की मुलाकात में पहलवानों ने खेल मंत्री के सामने पाँच माँगें रखीं हैं, जिनमें भारतीय कुश्ती महासंघ के लिए स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव और एक महिला प्रमुख की नियुक्ति शामिल है। पहलवानों ने यह भी मांग रखी है कि बृजभूषण शरण सिंह या उनके परिवार के सदस्य डब्ल्यूएफआई का हिस्सा नहीं होने चाहिए।

पहलवानों से उनके मुद्दों पर चर्चा करने को तैयार

इसके अलावा मांगों में 28 मई यानी नई संसद भवन के उद्घाटन के दिन पहलवानों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने और बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग की है। आज खेल मंत्री के साथ बातचीत में विनेश फोगट, जो विरोध का एक प्रमुख चेहरा रही हैं, शामिल नहीं थीं क्योंकि वह हरियाणा में अपने गांव बलाली में एक पूर्व-निर्धारित ‘पंचायत’ में भाग लेने के लिए वहां गई हुई हैं। बता दें कि खेल मंत्री ठाकुर ने कल देर रात 12 बजकर 47 मिनट पर पहलवानों के साथ गतिरोध खत्म करने के प्रयास में ट्वीट किया था, सरकार पहलवानों से उनके मुद्दों पर चर्चा करने को तैयार है।

खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से बातचीत के प्रस्ताव पर पहलवान साक्षी मलिक ने कहा था कि हम सरकार द्वारा दिए गए प्रस्ताव पर अपने वरिष्ठों और समर्थकों के साथ पहले चर्चा करेंगे और जब सभी अपनी सहमति देंगे कि प्रस्ताव ठीक है, तभी हम बातचीत के लिए कदम बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा था कि ऐसा नहीं होगा कि हम सरकार की किसी भी बात को मान लें और अपना विरोध समाप्त कर दें।

read more : ‘लव जिहादियों, यहां से चले जाओ’, मुसलमानों की दुकानों पर लगे धमकी भरे पोस्टर

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments