Wednesday, July 17, 2024
Homedelhiअब कोर्ट भी सुरक्षित नहीं, वकील की ड्रेस में आये व्यक्ति ने...

अब कोर्ट भी सुरक्षित नहीं, वकील की ड्रेस में आये व्यक्ति ने महिला को मारी गोली

दिल्ली के साकेत कोर्ट में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिसने कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था पर पुलिस के इंतजाम पर एक बार फिर सवाल खड़े कर दिए हैं। न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के एक मामले में गवाही देने आई एक महिला को वकील की ड्रेस पहनकर आए उसके पति ने कोर्ट रूम में ही ओपन फायर कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

एनएससी थाना अध्यक्ष ने महिला को अपनी गाड़ी से अस्पताल में भर्ती कराया है। घटना के बाद दिल्ली पुलिस में हड़कंप मच गया है। सूचना के बाद सारे वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि महिला को एक के बाद एक चार गोली मारी गई हैं।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, दिल्ली की साकेत कोर्ट में ये महिला एक मामले में पति के खिलाफ ही गवाही देने के लिए आईं थी। तभी इनका पहले से इंतजार कर रहे पति ने फायरिंग कर दी। महिला को आनन-फानन में अस्पताल लेकर जाया गया। मिली जानकारी के मुताबिक पीड़ित महिला का पति आदतन अपराधी है, और दोनों काफी समय से एक-दूसरे से अलग रह रहे थे।

महिला की पहचान एम राधा के रूप में हुई है, जिनकी उम्र 40 से अधिक बताई जा रही है। घायलवस्था में महिला को मैक्स साकेत अस्पताल ले जाया गया। प्रत्यक्षदर्शी रणजीत सिंह दलाल के अनुसार कुल 4-5 राउंड फायरिंग की गई। आरोपित व्यक्ति सस्पेंडेड वकील है, गोली मारने के बाद वह कैंटीन के बैक एंट्री के रास्ते फरार हो गया।

दिल्ली कोर्ट में फायरिंग का ये कोई पहला मामला नहीं

देश की राजधानी दिल्ली में स्थित अदालतों की सुरक्षा व्यवस्था कितनी चाक-चौबंद है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां पर आए दिन फायरिंग होती रहती है। ये ऐसा पहला मामला नहीं है, जब दिल्ली की अदालत में गोली चली हो। हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के कड़े निर्देशों के बावजूद, सुरक्षा चिंताओं के बावजूद दिल्ली की पुलिस सुरक्षा देने में नाकाम रही है। इससे पहले पिछले साल सितंबर 2021 में दिल्ली की तीस हजारी रोहिणी कोर्ट में घुसकर भरी कोर्ट में गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की ताबड़तोड़ गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

कोर्ट में वकील की ड्रेस पहने हुए दो शख्स आए और उन्होंने गोगी पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी थीं। टिल्लू गिरोह के शूटरों ने जितेंद्र गोगी की हत्या की थी। इसमें पुलिस ने दोनों शूटरों को मार गिराया था, लेकिन कोर्ट रूम में इस तरह की घटनाएं सुरक्षा व्यवस्था पर बड़े सवाल खड़े करती हैं ?

read more : कैसे मारे गए माफिया ब्रदर्स, कॉल्विन अस्‍पताल के सामने हुआ सीन रिक्रिएशन

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments