Wednesday, July 17, 2024
Homeदेशतेज़ी से पैर पसारता कोरोना वायरस, भारत में 24 घंटे में आए...

तेज़ी से पैर पसारता कोरोना वायरस, भारत में 24 घंटे में आए कोरोना के 1573 नए केस

भारत में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार उछाल देखने को मिल रहा है। एक दिन में संक्रमण के 1,573 नए मामले आने के बाद देश में अभी तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 4,47,07,525 हो गई है। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 10,981 पर पहुंच गई है। देश में संक्रमण से चार लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 5,30,841 हो गई।

वहीं संक्रमण से मौत के आंकड़ों का पुन:मिलान करते हुए केरल ने वैश्विक महामारी से जान गंवाने वाले मरीजों की सूची में एक नाम और जोड़ा है। आंकड़े बताते हैं कि देश में दो हफ्ते के अंदर 32 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत या इससे अधिक हो गया। वहीं, 63 ऐसे जिले हैं, जहां पॉजिटिविटी रेट पांच से दस प्रतिशत के बीच है।

दिल्ली के सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट

सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों में दिल्ली के 4 इलाके शामिल हैं। साउथ दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 13.8% है। ईस्ट दिल्ली में 13.1%, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में 12.3%, सेंट्रल दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 10.4% है। दिल्ली के अलावा सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट वाले जिले महाराष्ट्र, केरल और गुजरात में हैं। आंकड़े बताते हैं कि केरल के वायनाड में कोविड की पॉजिटिविटी रेट 14.8% है, जबकि कोट्टयम में 10.5% है। इसी तरह महाराष्ट्र के सांगली में 14.6% और पुणे में 11.1% पॉजिटिविटी रेट है। गुजरात के अहमदाबाद जिले में 10.7% पॉजिटिविटी रेट है।

24 घंटे में 1573 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से मंगलवार जारी आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना वायरस के 1,573 नए मामले सामने आए हैं, जबकि सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 10,981 हो गई है। केरल में संक्रमण के चलते चार लोगों की मौत हो गई। इसी के साथ कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,30,841 हो गई है।

अभी भी चल रहा कोरोना संक्रमण का इलाज

भारत में संक्रमण की दैनिक दर 1.30 प्रतिशत और साप्ताहिक दर 1.47 प्रतिशत है। अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 10,981 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.02 प्रतिशत है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.79 प्रतिशत है। अभी तक कुल 4,41,65,703 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, जबकि कोविड-19 से मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है। स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, भारत में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 220.65 करोड़ खुराक लगाई जा चुकी हैं।

पिछले साल की तरह दिख रहे मौजूदा हालात

डॉक्टर्स का कहना है कि मौजूदा समय जो हालात हैं, वो ठीक पिछले साल जनवरी से मार्च की तरह हैं। तब भी तीसरी लहर के दौरान लोगों में कोरोना के समान लक्षण दिख रहे थे।

मरीज बढ़ रहे, लेकिन अस्पतालों में भीड़ नहीं

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय कोविड टास्क फोर्स के सह-अध्यक्ष डॉ. राजीव जयदेवन कहते हैं कि कोरोना के मामलों में तेजी आई है, लेकिन राहत की बात है कि अभी हालात इतने नहीं बिगड़े हैं कि अस्पतालों में भीड़ बढ़े। देश भर के अस्पतालों में अभी तक कोविड रोगियों की भीड़ नहीं लग रही है। ऐसे में हमें इस डेटा को और अधिक बारीकी से देखने की जरूरत है।

गंभीर लक्षण वाले मरीजों की संख्या कम

दिल्ली के लोक नायक अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार कहते हैं कि वर्तमान में अस्पताल में दो कोविड-19 मरीज भर्ती हैं। एक मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर है जबकि दूसरे को वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत है। मतलब कोरोना मरीजों की संख्या जरूर बढ़ रही है, लेकिन गंभीर रोगी अभी कम है। ये राहत की बात है।

read more : अतीक अहमद प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल पहुंचा, बाहर भारी पुलिस बल तैनात

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments