Wednesday, July 17, 2024
Homedelhiपहलवानों के समर्थन में जा रही महिला किसानों को बॉर्डर पर रोका,...

पहलवानों के समर्थन में जा रही महिला किसानों को बॉर्डर पर रोका, जमकर हुई नारेबाजी

दिल्ली के टीकरी बॉर्डर पर रविवार को एक बार फिर से किसान और दिल्ली पुलिस आमने-सामने हो गए। महिला पहलवानों के समर्थन के लिए जंतर मंतर के लिए निकले किसानों के जत्थे को दिल्ली पुलिस ने टीकरी बॉर्डर पर रोक लिया। लेकिन महिला किसान दिल्ली पुलिस के नाकों को तोड़कर पैदल ही आगे बढ़ चली। महिला किसानों ने एमसीडी के कमर्शियल टोल प्लाजा पर जाकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। सड़क पर जाम लगा दिया। जिसके बाद दिल्ली पुलिस के हाथ पैर फूल गए और आनन-फानन में महिला किसानों के जत्थे को आगे बढ़ने की अनुमति दे दी गई। लगभग 10 बसों में सवार होकर महिला किसान पंजाब के विभिन्न हिस्सों से दिल्ली के जंतर मंतर के लिए आई हैं। अपने साथ में खाना बनाने का सामान भी लेकर किसान पहुंचे हैं।

महिला किसानों का कहना है कि सरकार को भारतीय कुश्ती महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह को तुरंत गिरफ्तार करना होगा। महिला पहलवान लगातार धरना प्रदर्शन कर रही हैं और मंच से बता रही हैं कि उनके साथ यौन शोषण हुआ है। ऐसे में आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए और सख्त से सख्त सजा देनी चाहिए। महिलाओं ने कहा कि अगर उन्हें रोका गया तो वहीं रुक जाएंगी। फिलहाल वे एक दिन के प्रदर्शन के लिए दिल्ली आई हैं।

पहलवानों के समर्थन में प्रदर्शन करने का ऐलान

पंजाब की भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) से जुड़ी हुई सैकड़ों महिलाएं कल ही पंजाब से दिल्ली के लिए रवाना हो गई थी। महिलाओं का पहला पड़ाव जींद में था और आज का पड़ाव जंतर मंतर पर रहने वाला है। महिलाओं के साथ भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के प्रधान जोगेंद्र सिंह उगराहां भी जंतर-मंतर गए हैं। जोगिंदर उगराहां का कहना है कि इस मामले में जांच की जरूरत नहीं है। जब बेटियां कह रही हैं कि उनके साथ यौन शोषण हुआ है तो उन्हें न्याय मिलना चाहिए। बृजभूषण शरण सिंह को जल्द से जल्द गिरफ्तार करना चाहिए और सख्त से सख्त सजा देनी चाहिए। अगर सरकार ने जल्द ही बृजभूषण शरण को गिरफ्तार नहीं किया तो वह बड़ा आंदोलन करेंगे। इतना ही नहीं संयुक्त किसान मोर्चा ने भी देश भर में 11 मई से 18 मई तक महिला पहलवानों के समर्थन में प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

किसानों के जत्थे की गाड़ियों के नोट किए नंबर

दिल्ली पुलिस ने किसानों के जत्थे की गाड़ियों के नंबर नोट करके किसानों को दिल्ली जाने की अनुमति दे दी। काफी समय तक किसानों और पुलिस की आमने सामने आने से तनाव की स्थिति बनी रही। आज हरियाणा की खाप पंचायतें दिल्ली महापंचायत करने जा रही हैं। इसे देखते हुए दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर भारी संख्या में पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों की ड्यूटी लगाई गई है।

किसानों व खापों के समर्थन की घोषणा के बाद दिल्ली पुलिस अलर्ट पर

भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर दिल्ली में जंतर-मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों को दिल्ली पुलिस से हुई झड़प के बाद हर तरफ से समर्थन मिल रहा है। किसानों व खाप पंचायतो के समर्थन की घोषणा के बाद दिल्ली पुलिस अलर्ट पर है। दिल्ली पुलिस ने सिंघु बॉर्डर पर नाका लगा रखा है। वाहनों को जांच के बाद ही दिल्ली में प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं कुंडली बॉर्डर पर सोनीपत पुलिस की भी एक कंपनी तैनात कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि सुरक्षा व्यवस्था बेहतर रखने के साथ ही ट्रैफिक को नियंत्रित करने के लिए पुलिस तैनात है।

पहलवानों को मिल रहा लगातार समर्थन

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवान ओलंपियन बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक व विनेश फोगाट लगातार धरना दे रहे हैं। पहलवान भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह शरण की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। सांसद बृजभूषण सिंह शरण पर दिल्ली पुलिस पॉक्सो समेत दो धाराओं में मुकदमा दर्ज कर चुकी है, लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है। जिसकी मांग को लेकर पहलवान डटे हैं। 3 मई की रात को पहलवानों संग दिल्ली पुलिस की झड़प के बाद उन्हें लगातार समर्थन मिल रहा है। ऐसे में पंजाब व हरियाणा के किसानों व खाप संगठनों के दिल्ली कूच को लेकर पुलिस अलर्ट पर है। पंजाब व हरियाणा के किसानों व खाप प्रतिनिधियों के दिल्ली में पहुंचने से रोकने के लिए बैरिकेड लगाए गए हैं।

सोनीपत पुलिस भी अलर्ट पर, एक कंपनी तैनात

दिल्ली पुलिस की तरफ से सुरक्षा बढ़ाने के बाद सोनीपत पुलिस भी अलर्ट पर है। इंस्पेक्टर जोगेंद्र ग्रेवाल के नेतृत्व में 100 जवानों की कंपनी को तैनात किया गया है। हालांकि सोनीपत पुलिस वाहनों को नहीं रोक रही है। इंस्पेक्टर जोगेंद्र ग्रेवाल का कहना है कि पुलिस को सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किया गया है। साथ ही ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

चेकिंग के चलते बनी जाम की स्थिति

दिल्ली पुलिस की तरफ से सिंघु बॉर्डर पर नाका लगाकर वाहनों की जांच कर ही आगे भेजे जाने के चलते नेशनल हाईवे-44 पर जाम की स्थिति बन गई है। वाहन रेंगते हुए दिल्ली की सीमा में प्रवेश कर रहे है। नेशनल हाईवे पर करीब डेढ़ किलोमीटर तक वाहन फंसे हुए है। दिल्ली पुलिस के साथ ही सोनीपत पुलिस भी वाहनों को निकालने में लगे है। कुंडली की बॉर्डर के बजाय वाहनों को अन्य संपर्क मार्गों से निकाला जा रहा है। जिसके चलते सफियाबाद व औचंदी बॉर्डर पर भी वाहनों की लाइन लगी है। पुलिस को वाहनों को निकालने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है।

सिंघु बॉर्डर पर बैरिकेडिंग और मिट्टी से भरे डंपर किए गए तैयार

दिल्ली के जंतर-मंतर पर रविवार को पहलवानों के धरने पर शामिल होने के लिए पंजाब व हरियाणा से लोग आ सकते हैं। इसके मद्देनजर सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद कर दी गई है। सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। सिंघु बॉर्डर पर बैरिकेडिंग की जा रही है, साथ ही मिट्टी के बड़े-बड़े डंपर भी एतिहात के तौर पर खड़े कर दिए गए हैं ताकि यदि अचानक से बॉर्डर को बंद करना पड़े तो उन डंपर को आगे लगाया जा सके और रास्ता बंद किया जा सके। अगर ट्रैक्टर आदि आते हैं तो उस वक्त उन्हें रोकना पुलिस के लिए चुनौती होगी और उसी के मद्देनजर ये सब तैयारियां की जा रही हैं।

खाप पंचायतों ने दी सरकार को चेतवानी

हरियाणा के सोनीपत में लववंशीय खत्री खाप व जटवाड़ा 360 खाप ने शनिवार को दिल्ली में धरने पर बैठे पहलवानों के प्रति समर्थन जताया। दोनों खाप ने चेताया कि यदि सरकार आरोपी भाजपा सांसद एवं भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी। तो जिस तरह किसान आंदोलन के समय दिल्ली को जाम कर दिया था, उसी तरह खापें पहलवानों के समर्थन में फिर से दिल्ली जाम करने से पीछे नहीं हटेंगी।

पानी, दूध व राशन की आपूर्ति बाधित करने की धमकी

खाप सदस्यों ने दावा किया कि दिल्ली के अंदर पानी, दूध व राशन की आपूर्ति भी बाधित कर दी जाएगी। सोनीपत के रेलवे रोड स्थित एक निजी कार्यालय में लववंशीय खत्री खाप व जटवाड़ा 360 खाप की एक सामूहिक बैठक हुई, जिसमें धरने पर बैठे पहलवानों को सर्वसम्मति से अपना समर्थन दिया गया।

संयुक्त किसान मोर्चा ने की बृजभूषण को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने घोषणा की कि वह भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पहलवानों के समर्थन में देशभर में प्रदर्शन करेगा। संगठन ने सिंह को तत्काल गिरफ्तार करने की भी मांग की। उसने एक बयान में कहा कि सात मई को पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिम उत्तर प्रदेश से एसकेएम के कई वरिष्ठ नेता सैकड़ों किसानों के साथ जंतर मंतर पर एक बार फिर प्रदर्शन स्थल का दौरा करेंगे और प्रदर्शनरत पहलवानों को अपना समर्थन देंगे।

धारा 144 लागू

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली को जोड़ने वाले सभी बॉर्डर पर दिल्ली पुलिसकर्मियों के अलावा सीआरपीएफ और आरएएफ के जवान भी तैनात किए गए हैं। पुलिस सभी बॉर्डर पर सख्ती से निगरानी रख रही है। प्रतिबंधित जगहों पर पुलिस की तरफ से धारा-144 के लागू होने के बोर्ड भी लगाए गए हैं।

read more : पीएफआई से जुड़े मामले में एटीएस और यूपी एसटीएफ की छापेमारी

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments