Wednesday, July 17, 2024
Homeदेशएफआईआर में हुआ खुलासा, समीर वानखेड़े ने गोसावी के साथ मिल कर...

एफआईआर में हुआ खुलासा, समीर वानखेड़े ने गोसावी के साथ मिल कर रची थी साजिश

आर्यन खान ड्रग्स केस एक बार फिर चर्चाओं में आ गया है। बीते दिनों शाहरुख खान के बेटे के मामले की जांच करने वाले अधिकारी समीर वानखेड़े का मुश्किलों में फंसना और फिर उनका इस्तीफा इस केस को लाइमलाइट में ले आया है। सीबीआई ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ कथित तौर पर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स-ऑन-क्रूज मामले में फंसाने के लिए 25 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई थी। अब इस मामले में एक बड़ा अपडेट सामने आया है।

25 करोड़ रुपये लेने की थी योजना

खबर है कि, ड्रग्स क्रूज मामले में एनसीबी के पूर्व जांच अधिकारी समीर वानखेड़े और उनके साथियों के खिलाफ एक एफआईआर में सीबीआई ने उनके खिलाफ 25 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के सबूत होने का जिक्र किया है। सीबीआई ने खुलासा किया कि इनडिपेंडेंट विटनेस केपी गोसावी ने कथित तौर पर आर्यन खान ड्रग्स मामले में आर्यन खान के परिवार से 25 करोड़ रुपये वसूलने की योजना बनाई थी।

समीर वानखेड़े के लिए गोसावी कर रहा था डील

एफआईआर की कॉपी के अनुसार, समीर वानखेड़े ने डील के लिए पैसों के मामले में गोसावी को पूरी छूट दे रखी थी। जांच में ये भी पता चला की संदिग्धों को स्वतंत्र गवाह के. पी. गोसावी के वाहन में लाया गया। गोसावी को एनसीबी अधिकारी की तरह दिखाया गया था। समीर वानखेड़े के कहने पर गोवासी ने आर्यन खान को एनसीबी अधिकारी बनकर ऑफिस में यहां से वहां खींचा और धमकाया। उसके साथ सेल्फी ली, आर्यन खान के परिवार से 25 करोड़ रुपए वसूलने की साजिश रची, उसे मामले में फंसाने की धमकी दी और आखिरकार 18 करोड़ में डील फाइनल हो गई। के. वी. गोसावी ने टोकन मनी के तौर पर 50 लाख रुपये लिया था। हालांकि, बाद में इसमें से कुछ हिस्सा वापस कर दिया गया।

सीबीआई ने डाला था समीर वानखेड़े के घर पर छापा

आर्यन खान को 2 अक्टूबर, 2021 को कॉर्डेलिया क्रूज पर कथित ड्रग रेड में गिरफ्तार किया गया था। साल 2008 बैच के आईआरएस अधिकारी वानखेड़े और चार अन्य – एनसीबी अधिकारी विश्व विजय सिंह, खुफिया अधिकारी आशीष रंजन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। इसके साथ ही मुंबई, दिल्ली, रांची, लखनऊ, गुवाहाटी और चेन्नई में 29 जगहों पर तलाश अभियान शुरू किया गया था। सीबीआई ने समीर वानखेड़े के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उनके परिसरों पर छापेमारी की थी। सीबीआई की टीम ने वानखेड़े के मुंबई स्थित घर पर 13 घंटे से ज्यादा पूछताछ की थी। सीबीआई अधिकारी वानखड़े के पिता, सास-ससुर और बहन के घर भी पहुंचे थे। तलाश के घेरे में दो प्रावेट लोग भी थे, जिनका नाम केपी गोसावी और सिविल डिसूजा है।

आर्यन खान को मिली थी क्लीन चिट

बता दें कि एनसीबी ने ड्रग्स-ऑन-क्रूज मामले में चार्जशीट दायर की थी। उसने बाद में आर्यन खान को क्लीन चिट दे दी थी। वहीं, एनसीबी द्वारा गठित एक एसआईटी की रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि समीर वानखेड़े के नेतृत्व वाली जांच में चूक हुई थी।

read more : कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणाम 2023 : कांग्रेस की जीत ,बीजेपी को सबक

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments