Wednesday, July 17, 2024
Homeक्राइमदुष्कर्म के आरोपी जिस युवक को पुलिस पकड़कर ले गई थाने, वो...

दुष्कर्म के आरोपी जिस युवक को पुलिस पकड़कर ले गई थाने, वो निकली महिला

कई बार कुछ मामले पुलिस को भी हैरान कर जाते हैं। इस बार जो मामला सामने आया है, उसे जानकार हर कोई दंग है। राजस्थान के सिरोही से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक नाबालिग लड़की के अपहरण और दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस पकड़कर थाने लाई। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह लड़का नहीं, असल में लड़की है। इसलिए वह दुष्कर्म कर ही नहीं सकती। पुलिस ने आरोपी की बातों पर यकीन नहीं किया लेकिन बार-बार आरोपी के कहने पर मेडिकल करवाया गया। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद पुलिस का भी दिमाग चकरा गया।

क्या है पूरा मामला

राजस्थान के सिरोही जिले में रेप का आरोप जिस पुरुष पर लगा था । वह तो पुरुष के भेष में एक महिला निकली। इस बात का खुलासा तब हुआ । जब पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके जांच की। महिला थाना की प्रभारी माया पंडित ने बताया कि 28 नवंबर को मामला दर्ज किया गया था कि शंकर नामक आरोपी ने एक नाबालिग लड़की को अगवा कर उससे रेप किया। पुलिस आरोपी को हिरासत में लेकर पांच दिसंबर को थाने ले आई।

आरोपी ने पुलिस से कहा कि वह पुरुष नहीं बल्कि पुरुष के भेष में रहने वाली महिला है। मेडिकल जांच की गई, जिसमें आरोपी के महिला होने की पुष्टि हुई। थाना प्रभारी ने कहा कि आरोपी पर बलात्कार का आरोप झूठा पाया गया लेकिन उस पर अपहरण का भी आरोप लगाया गया था। इसलिए उसे संबंधित धारा के तहत गिरफ्तार किया गया।

नाबालिग लड़की का आरोप-दो दिन तक किया दुष्कर्म

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार महिला पुलिस थाने में 28 नवंबर को एक नाबालिग लड़की ने अपहरण कर दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था। उसने बताया कि मेड़ा निवासी शंकर (25 साल) ने उसका अपहरण कर लिया और दो दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी की तलाश शुरू की लेकिन मेड़ा गांव में शंकर नाम का कोई युवक नहीं मिला। इस पर पुलिस ने फिर पीड़िता से आरोपी का हुलिया पूछा। जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपी युवक को 5 दिसंबर को पकड़ लिया और थाने लेकर आई।

महिला की एक तीन साल की बेटी भी

पुलिस पूछताछ में आरोपी शंकर ने कहा कि वह लड़की को लेकर जरूर गया था लेकिन उसने दुष्कर्म नहीं किया। पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की। जिसपर आरोपी ने कहा कि वह दुष्कर्म नहीं कर सकता है क्योंकि वह लड़की है। पुलिस को आरोपी पर विश्वास नहीं हुआ लेकिन लड़का बार-बार इस बात पर अड़ा रहा। उसके बाद पुलिस अधिकारियों ने आरोपी का मेडिकल करवाया। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद सबके होश उड़ गए। जांच में सामने आया कि आरोपी लड़का नहीं औरत है। यहां तक की ये महिला करीब 3 साल पहले एक बच्चे को जन्म दे चुकी है। अब उसकी बेटी तीन साल की हो चुकी है।

आरोपी महिला को कोर्ट ने भेजा जेल

वहीं मेडिकल में आरोपी का औरत होने की बात सामने आने के बाद पुलिस ने दुष्कर्म का मामला झूठा पाया। हालांकि, पुलिस ने महिला को नाबालिग को बहला-फुसलाकर ले जाने का दोषी पाया। जिसके बाद पुलिस ने महिला को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

क्यों रहती थी पुरुष के भेष में ?

पुरुष बनकर रह रही महिला ने बताया कि उसके माता-पिता की काफी समय पहले ही मौत हो चुकी थी। भाई ने उसे कहीं बेच दिया था। खरीदने वाले ने उससे शादी कर ली। उसकी तीन साल की एक बेटी भी है। पति के छोड़ने पर वह घऱ चलाने के लिए लड़का बनकर रहती थी।

read more : शराब पीकर लोग मर जाएंगे और हम मुआवजा देंगे ? सवाल ही पैदा नहीं होता- सीएम नीतीश

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments