Thursday, July 18, 2024
Homeविदेशइमरान खान को फांसी दे दी जाए, पाकिस्तान की संसद में उठी...

इमरान खान को फांसी दे दी जाए, पाकिस्तान की संसद में उठी मांग

पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की गिरफ्तारी और जमानत के बाद से लेकर आज तक पाकिस्तान में बवाल मचा है। यहां की सियासी पार्टियां आमने सामने हैं और लोग सड़कों पर हैं। पाकिस्तान की संसद में आज पीटीआई प्रमुख और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को फांसी दिए जाने की मांग उठी। नेशनल असेंबली में सत्ताधारी गठबंधन में शामिल आसिफ अली जरदारी की पार्टी के सांसद राजा रियाज अहमद खान ने इमरान खान को फांसी दिए जाने की मांग उठाते हुए कहा, यहूदियों के एजेंट को सरेआम फांसी दी जानी चाहिए।

लेकिन अदालतें उनका ऐसे स्वागत कर रही हैं जैसे कि वह उनके दामाद हों। इसके साथ ही नेशनल असेंबली (एनए) ने पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश (सीजेपी) न्यायमूर्ति उमर अता बंदियाल के खिलाफ संदर्भ दायर करने के लिए समिति के गठन को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया है। इस मामले में संसद में निंदा प्रस्ताव लाया जा सकता है।

सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ सत्ताधारी गठबंधन का प्रदर्शन

उधर इमरान की रिहाई के खिलाफ पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) ने सुप्रीम कोर्ट के सामने प्रदर्शन शुरू कर दिया है। इतना ही नहीं उग्र भीड़ ने वहां अपना कैंप लगा लिया है। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) कई पार्टियों से मिलकर बना संगठन है। इसमें सत्ताधारी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज, जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-फजल (JUIF) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) सहित कई पार्टियां शामिल हैं। सत्तारूढ़ गठबंधन के दलों की ओर से इमरान का ‘‘समर्थन’’ करने पर न्यायपालिका के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया है। पाकिस्तान के सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल एक इस्लामी दल ने कई मामलों में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को कथित रूप से ‘‘राहत’’ देने को लेकर सुप्रीम कोर्ट समेत देश की न्यायपालिका के खिलाफ प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन कर मुख्य न्यायाधीश को डराने की कोशिश – इमरान खान

इमरान खान ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के बाहर किए जा रहे जेयूआई-एफ के ‘‘नाटक’’ का एकमात्र उद्देश्य पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश को डराना है। ताकि वह संविधान के अनुसार फैसला न करें। इमराम खान की गिरफ्तारी के बाद पूरे पाकिस्तान में मंगलवार को हिंसक प्रदर्शन शुरू हुए थे। जो शुक्रवार तक जारी रहे। इन प्रदर्शनों में कई लोगों की मौत हो गई और दर्जनों सैन्य एवं सरकारी संस्थानों के परिसरों को नुकसान पहुंचा था।

संविधान के खिलाफ काम कर रही शरीफ सरकार – इमरान खान

पाकिस्तान की सियासत में फिर बड़ा बवाल मचा है।रेड जोन का गेट तोड़े जाने पर इमरान खान भड़क गए और उन्होंने एक वीडियो ट्वीट कर सरकार पर बहुत बड़ा आरोप लगा दिया। इमरान ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ जा रहे उपद्रवियों की सुरक्षा बलों ने मदद की और उनका रास्ता आसान बनाया। इमरान ने कहा कि सरकार संविधान के ख़िलाफ़ काम कर रही है।

इमरान खान ने पेश की है 6 मामलों में जमानत के लिए याचिका

इसी बीच इमरान खान अपनी पत्नी के साथ आज लाहौर हाईकोर्ट पहुंचे। दोनों को आज कोर्ट में पेश होना था। बुशरा बीबी को 23 मई तक जमानत मिल गई है। वहीं इमरान खान 6 मामलों में जमानत के लिए अर्जी दे रहे हैं। 9 मई की हिंसा के बाद दर्ज हुए हैं इमरान पर केस। इनमें इमरान, समर्थकों पर हत्या और आतंकवाद की धाराएं लगी हैं। लाहौर में कोर कमांडर के घर पर आगजनी हुई थी। लाहौर के जिन्ना हाउस को भी भीड़ ने निशाना बनाया था। रावलपिंडी में आर्मी हेडक्वार्टर में भी इमरान खान के समर्थकों ने तोड़फोड़ की थी।

read more : अभी खत्म नहीं हुआ कारोबार, अतीक अहमद की हत्या के बाद भी उसके गुर्गे बेखौफ

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments