Thursday, July 18, 2024
Homedelhiफिर तिहाड़ में गैंगस्टर की हत्या , इस बार गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया...

फिर तिहाड़ में गैंगस्टर की हत्या , इस बार गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की हुई हत्या

दिल्ली का टॉप गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की तिहाड़ के अंदर गैंगवार के चलते आज सुबह हत्या हो गई। देश के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले दिल्ली के तिहाड़ जेल में टिल्लू ताजपुरिया की हत्या हो गई। बताया जा रहा है कि विरोधी गैंग के योगेश उर्फ टुंडा और दीपक उर्फ तीतर ने लोहे की रॉड से टिल्लू तेजपुरिया पर हमला किया, जिसमें टिल्लू ताजपुरिया की मौत हो गई। जबकि टिल्लू के सेल में बंद दूसरे कैदी रोहित को भी गंभीर चोटें आई हैं, जिसका इलाज डीडीयू अस्पताल में चल रहा है।

लोहे की ग्रिल तोड़कर टिल्लू की सेल में घुसे

अब सवाल ये उठता है कि देश के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले तिहाड़ जेल में गैंगस्टर का मर्डर कैसे हो गया। दरअसल, गैंगस्टर टिल्लू तेजपुरिया और योगेश टुंडा एक दूसरे के धुर विरोधी हैं। योगेश टुंडा जहां जेल नंबर 8 में बंद था तो वहीं, टिल्लू ताजपुरिया जेल नंबर 9 में बंद था। बताया जा रहा कि टिल्लू ताजपुरिया और योगेश टुंडा के सेल के बीच में लोहे का ग्रिल था। योगेश टुंडा ने अपने साथी कैदी दीपक उर्फ तीतर के साथ मिलकर लोहे की ग्रिल को तोड़ा और टिल्लू तेजपुरिया के सेल में घुस गया।

जहां दोनों ने लोहे की रॉड से टिल्लू पर अटैक कर दिया। इस दौरान टिल्लू के साथी कैदी रोहित पर भी हमला किया। हमले के बाद दोनों को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में लाया गया, जहां डॉक्टरों ने टिल्लू ताजपुरिया को मृत घोषित कर दिया।

मंडोली जेल में बैठकर टिल्लू ने करवाया रोहिणी कोर्ट शूटआउट

टिल्लू ताजपुरिया का असली नाम सुनील मान है। वो गैंगस्टर गोगी का धुर विरोधी था, जिसकी हत्या उसने रोहिणी कोर्ट में तब करवाई थी, जब गोगी को पेशी के लिए कोर्ट में लाया गया था। बताया जाता है कि गैंगस्टर टिल्लू उस वक्त दिल्ली के मंडोली जेल में बंद था और वहीं से उसने गोगी के मर्डर की साजिश रची थी। गोगी और टिल्लू की दुश्मनी कॉलेज के दिनों से ही थी। टिल्लू ताजपुरिया का संबंध नीरज बवाना गुट से भी रहा है और उसके ऊपर हत्या, रंगदारी और जमीन कब्जा के कई मामले दर्ज हैं।

लॉरेंस बिश्नोई के खास गोगी की टिल्लू ताजपुरिया ने करावाई थी हत्या

टिल्लू ताजपुरिया पर दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में गैंगस्टर जिंतेंद्र गोगी की हत्या करवाने का आरोप था। ये हत्या कोर्टरूम में कई गयी थी। जितेंद्र गोगी गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का बेहद खास था। फिलहाल जितेंद्र गोगी का गैंग गैंगस्टर दीपक बॉक्सर संभाल रहा था जिसे स्पेशल सेल हाल ही में मैक्सिको से पकड़ कर लायी थी। सूत्रों के मुताबिक दीपक बॉक्सर भी अभी तिहाड़ जेल में बंद है। तिहाड़ जेल में 1 महीने में ये दूसरे गैंगस्टर की हत्या है।

इससे पहले प्रिंस तेवतिया की हत्या की गई थी, जो लॉरेंस बिश्नोई गैंग का सदस्य था। तिहाड़ प्रशासन ने साफ किया कि टिल्लू पर हमला गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया। इन चारों ने लोहे की रोड और सूए से टिल्लू पर हमला किया। बताया जा रहा है कि टिल्लू पर 40 से ज्यादा सूए से वार किए गए।

टिल्लू की हत्या के पीछे रोहित मोई का नाम सामने आया

तिहाड़ जेल के डीजी ने बताया कि टिल्लू पर हमला सुबह 6:15 बजे किया गया था। ये चारों बदमाश जेल नंबर 9 की फर्स्ट फ्लोर पर बंद थे और इन्होंने ने लोहे की ग्रिल काटकर चादर की मदद से ग्राउंड फ्लोर पर कूदे, जहां हाई सिक्योरिटी जेल मे बंद टिल्लू पर इन्होंने हमला किया। टिल्लू की हत्या के पीछे गोगी के राइट हैंड रोहित मोई का नाम सामने आ रहा है। रोहित मोई भी तिहाड़ जेल में बंद है।

बिश्नोई गैंग का कई गैंग्स के साथ गठजोड़

26 अगस्त 2022 को टिल्लू ताजपुरिया और कई और गैंगस्टर के खिलाफ एनआईए (NIA) ने एफआईआर (FIR) दर्ज की थी। उस एफआईआर में आरोप लगाया गया था कि ये गैंगस्टर विदेश में बैठे लोगों के साथ साजिश कर आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं। बताया जाता है कि जितेंद्र गोगी गैंग, संदीप उर्फ काला जठेड़ी गैंग और लारेंस बिश्नोई गैंग। ये तीन गैंग आपस में हाथ मिलाकर एक साथ काम करते हैं।

read more : गैंगस्टर एक्ट में माफिया मुख्तार अंसारी और अफजाल अंसारी दोषी करार

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments