Wednesday, June 19, 2024
Homeदेशओडिशा में तीन ट्रेनों की टक्कर में अब तक 288 लोगों की...

ओडिशा में तीन ट्रेनों की टक्कर में अब तक 288 लोगों की मौत,1000 से ज्यादा घायल

बालासोर में दो यात्री ट्रेन और एक मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने से इस दर्दनाक ट्रेन हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 288 पर पहुंच गई है। ओडिशा के मुख्य सचिव प्रदीप जेना ने इसकी पुष्टि की है। मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है। इस दुर्घटना में 1000 से ज्यादा लोग घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है। घटना के बाद बचाव कर्मी फंसे लोगों को बचाने में लगे हैं। 2 जून 2023 को बालेश्वर ज़िले के बहानागा में हुई रेल दुर्घटना के मद्देनजर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक दिन के राजकीय शोक का आदेश दिया है।

पूरे राज्य में 3 जून को कोई उत्सव नहीं मनाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक हावड़ा जा रही 12864 बेंगलुरु-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस के कई डिब्बे बाहानगा बाजार में पटरी से उतर गए और दूसरी पटरी पर जा गिरे। पटरी से उतरे ये डिब्बे 12841 शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस से टकरा गए और इसके डिब्बे भी पलट गए। कोरोमंडल एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरने के बाद एक मालगाड़ी से टकरा गए, जिससे मालगाड़ी भी दुर्घटना की चपेट में आ गई। हादसा शाम को करीब सात बजे हुआ।

बहुत बड़ी दुर्घटना है – रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव बालासोर पहुंचे और दुर्घटनास्थल का जायजा लिया। रेल मंत्री ने कहा कि, रेलवे, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीम बचाव कार्य में जुटी हैं। फिलहाल हमारा ध्यान बचाव कार्य पर है। राहत और बचाव कार्य खत्म होने के बाद ही ट्रेनों के आवागमन का कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

पहले से ही बहाली के लिए मशीने तैनात हैं। रेल मंत्री ने कहा यह बहुत बड़ी दुर्घटना है। सभी दिवंगत आत्माओं के लिए हम प्रार्थना करते हैं। कल रात से रेलवे की टीम,एनडीआरएफ, एसडीआरएफ बचाव कार्य में जुटी है। जिनके परिवार के सदस्यों की इस हादसे में मृत्यु हो गई, उनके प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। सरकार उन्हें हर संभव मदद करेगी। रेलवे ने कल ही मुआवजे का ऐलान कर दिया था, जांच कमेटी का भी गठन किया गया है।

ओडिशा ट्रेन हादसा बेहद पीड़ादायक – केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, ”ओडिशा के बालासोर में हुआ रेल हादसा बेहद पीड़ादायक है। एनडीआरएफ की टीम पहले ही दुर्घटनास्थल पर पहुंच चुकी है और अन्य टीमें भी बचाव अभियान में शामिल होने के लिए पहुंच रही हैं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।”

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा ट्रेन हादसे पर जताया दुख

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ट्वीट किया, ”ओडिशा के बालासोर में दुर्भाग्यपूर्ण रेल हादसे में लोगों की मौत के बारे में जानकर गहरा दुख है। मेरी संवेदना शोक संतप्त परिवारों के साथ है। बचाव कार्यों की सफलता और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करती हूं।”

प्रधानमंत्री मोदी ने जताया दुख, रेल मंत्री से की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख और संवेदना जताई है। पीएम ने ट्वीट किया, ”ओडिशा में ट्रेन हादसे के बारे में जानकर व्यथित हूं। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात की है और स्थिति का जायजा लिया है। दुर्घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है और प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता दी जा रही है।”

तमिलनाडु के सीएम ने की ओडिशा के सीएम से बात

तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन ने ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक से बात की है। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के परिवहन मंत्री शिवशंकर के नेतृत्व में वरिष्ठ आईएएस अधिकारियो की एक विशेष टीम घटनास्थल पर जाएगी। वही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ट्वीट किया, ”ओडिशा के बालासोर में हुए भीषण ट्रेन हादसे में कई लोगों की मौत अत्यंत दुखद है। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें। असीम पीड़ा की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं। हादसे में घायलों के स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।”

हादसे के पीड़ितों के लिए मुआवजे की घोषणा

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पीड़ितों के लिए मुआवजा राशि की घोषणा की है। उन्होंने ट्वीट करके बताया कि हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायल लोगों को 2 लाख रुपये और मामूली रूप से चोटिल हुए लोगों को 50 हजार रुपये की मदद दी जाएगी।

विधायक स्वरूप कुमार ने बताया आंखों देखा हाल

स्थानीय विधायक स्वरूप कुमार दास ने कहा, ”जहां पर हादसा हुआ है मैं वहीं पर हूं। जो कोरोमंडल एक्सप्रेस है उसके करीब 20 कोच पटरी से उतरे हैं और बुरी तरह क्षतिग्रस्त हैं। बचाव कार्य बेहद तेजी से चल रहा है। स्थानीय लोगों से बहुत मदद मिली है, पास के चार अस्पतालों में पचास से ज्यादा एंबुलेंस के जरिये घायलों को पहुंचाया जा रहा है। अभी घटना को लेकर कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है, अप और डाउन दोनों लाइनें प्रभावित हुई हैं।”

प्रियंका गांधी ने की कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मदद की अपील

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी हादसे को लेकर दुख जताया है। उन्होंने कहा, ”ओडिशा के बालासोर में हुई ट्रेन दुर्घटना का दुखद समाचार मिला। मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि सभी घायलों को जल्द स्वास्थ्य लाभ मिले। सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील है कि राहत कार्यों में पूर्ण सहयोग करें।”

राहुल गांधी ने जताया दुख

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ”ओडिशा के बालासोर में कोरोमंडल एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के दुखद समाचार से व्यथित हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से आग्रह करता हूं कि बचाव के प्रयासों के लिए जरूरी सभी सहायता प्रदान करें।”

एंटी कोलिशन डिवाइस होता तो हादसा नहीं होता – ममता बनर्जी

ओडिशा के बालासोर में रेल हादसे वाली जगह पर पहुंचीं ममता बनर्जी ने कहा, “यह अब तक का सबसे बड़ा रेल हादसा है। ऐसा ही हादसा 1981 में भी हुआ था। इस ट्रेन में एंटी कोलिशन डिवाइस नहीं था, अगर वह होता तो यह हादसा नहीं होता। हमारे राज्य के जिन लोगों की इस हादसे में मृत्यु हो गई उनके परिजनों को हम 5-5 लाख रुपए देंगे। हम राहत और बचाव कार्य में राज्य सरकार और रेलवे का पूरा सहयोग करेंगे।”

हादसे के पीड़ित ने बताया आंखों देखा हाल

ओडिशा के बालासोर में हुए भयानक ट्रेन हादसे के पीड़ितों में से एक सोम्यारंजन सेठी ने घटना के बारे में बताया, ”6:45 बजे कुछ आवाज आई, मालूम चला कि ट्रेन एक्सिडेंट हुआ। एक्सीडेंट के बाद जब बोगी रुकी तो मैं पहले निकला, मेरे साथ जो तीन-चार आदमी थे, उनको रेस्क्यू किया। एक आदमी मुझे नीचे लेकर आया। थोड़ा पानी पिलाया फिर गाड़ी में बैठाकर मेडिकल लेकर आया।” शख्स ने बताया कि 200 के आसापास लोग घायल हो चुके हैं। उसने कहा कि एंबुलेंस तुरंत आ गई थीं। फायर स्टेशन को भी सूचना दी गई थी, वो लोग भी आ गए थे।

बालासोर में रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म

ओडिशा के बालासोर में रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो चुका है। रेलवे के प्रवक्ता अमिताभ शर्मा ने कहा, पीएम खुद घटनास्थल का दौरा करेंगे। दो एक्सप्रेस और एक मालगाड़ी इन्वॉल्व्ड हैं हादसे में कटक, बालासोर और घटनास्थल के लिए तीन टीम गठित की गयी हैं। 39 ट्रेन डायवर्ट रूट से शुरू की गयी है जो ज़िम्मेदार है उसपर कार्रवाई की जाएगी, रिपोर्ट का इंतजार है।

इस्तीफा दें रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

वहीं, हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के इस्तीफे की मांग तेज हो घई है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता अजीत पवार ने कहा कि जब ऐसी दुर्घटनाएं पहले होती थीं, तो रेल मंत्री इस्तीफा दे देते थे। पवार ने कहा, “लेकिन अब कोई भी बोलने को तैयार नहीं है।” तृणमूल के प्रवक्ता साकेत गोखले ने कहा, “कथित सिग्नल फेल होने के कारण 3 ट्रेनें दुर्घटनाग्रस्त हो गईं, यह विश्वास से परे चौंकाने वाला है। ये गंभीर सवाल हैं, जिनका जवाब देने की जरूरत है।” ओडिशा में ट्रेन दुर्घटना पर सवाल उठाते हुए, कई सोशल मीडिया यूजर्स ने ‘कवच’ सुरक्षा प्रणाली की व्याख्या करते हुए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का वीडियो साझा किया।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से साधी चुप्पी

घटनास्थल पर पहुंचे रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने एक तरफ जहां दुर्घटनाग्रस्त बोगियों का जायजा लिया, राहत-बचाव अभियान की समीक्षा की और रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे अधिकारियों से मिले, लेकिन सवालों से दूर भागते भी नजर आए। मीडिया से बातचीत करते समय वह ज्यादातर सवालों का जवाब देने से बचते नजर आए। उन्होंने कई सवालों के जवाब में सिर्फ यही कहा कि वह देखेंगे, उनके अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं, तो वहीं उन्होंने अपने इस्तीफे के सवाल पर चुप्पी साध ली।

read more : माफियाओं पर योगी सरकार का एक्शन जारी, विजय मिश्रा का मकान कुर्क

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments