Thursday, July 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशअलाया अपार्टमेंट हादसे में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने नवाजिश शाहिद को लिया...

अलाया अपार्टमेंट हादसे में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने नवाजिश शाहिद को लिया हिरासत में

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में वज़ीर हसन रोड पर स्थित 5 मंजिला ईमारत (अलाया अपार्टमेंट) गिरने के बाद पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। इस मामले में पुलिस ने पूर्व मंत्री और सपा विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश शाहिद को हिरासत में लिया है। इस अपार्टमेंट को शाहिद मंजूर के भतीजे मोहम्मद तारिक और बेटे नवाजिश शाहिद ने खरीदा था।

पुलिस ने शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को हिरासत में लेकर एक घंटा पूछताछ की और रात करीब डेढ़ बजे अपने साथ लखनऊ ले आई। अलाया अपार्टमेंट को यजदान बिल्डर्स ने बनवाया था। वहीं, नवाजिश के चचेरे भाई मोहम्मद तारिक की मेरठ पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है। उसे भी हिरासत में लेने के लिए पुलिस ने कई टीमें गठित की हैं।

शाम करीब 6 बजकर 45 मिनट पर हुआ था हादसा

दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में मंगलवार की दोपहर को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.8 मापी गई थी और इसका केंद्र नेपाल में था। इस 5 मंजिला इमारत में करीब 16 फ्लैट थे और सबसे ऊपर पेंट हाउस था। आशंका जताई जा रही है कि मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह हादसा शाम करीब 6 बजकर 45 मिनट पर हुआ। इमारत ढहने की जगह तैनात पुलिसकर्मियों को शोकाकुल परिजनों को नियंत्रित करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी।

नवाजिश शाहिद की बेटी के नाम अलाया अपार्टमेंट

बता दें कि इस अपार्टमेंट का नाम विधायक शाहिद मंजूर की पोती यानि बेटे नवाजिश शाहिद की बेटी अलाया के नाम पर ही है। शाहिद मंजूर मेरठ के किठौर से विधायक हैं। इस हादसे में अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 15 लोगों को मलबे से निकाल लिया गया है। 2 लोगों के अब भी जमींदोज हो चुकी इमारत के मलबे में फंसे होने की आशंका है। 5 मंजिला इस बिल्डिंग के गिरने की वजह का तो अभी पता नहीं लगा है, लेकिन इसे कल दोपहर में आए भूकंप से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

यजदान बिल्डर्स द्वारा बनाई बिल्डिंग्स की होगी जांच

इस बीच लखनऊ की मंडलायुक्त डॉक्टर रोशन जैकब ने लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि हजरतगंज के वजीरगंज हसन रोड पर बने अलाया अपार्टमेंट के गिरने पर बिल्डिंग के मालिकों मोहम्मद तारीफ और नवाजिश शाहिद के साथ-साथ इस अपार्टमेंट को बनाने वाले यजदान बिल्डर्स पर तत्काल केस दर्ज किया गया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि लखनऊ में यजदान बिल्डर्स के द्वारा बनाई गई अन्य बिल्डिंगों को चिन्हित कर जांच कराई जाए और अगर कोई इमारत अवैध रूप से बनाई गई है तो उसके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू की जाए।

दोषी पाए जाने पर होगी जेल

आपको बता दें कि लखनऊ के अलाया अपार्टमेंट बिल्डिंग करने से हड़कंप मचा हुआ है। देर रात से ही रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया, जिसमें अब तक 15 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू करके अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। सूत्रों की मानें तो बिल्डिंग का चौथा फ्लोर अवैध रूप से बनाया गया था। इसके अलावा बेसमेंट में पाइप लाइन डालने का काम चल रहा था। इसी दौरान बिल्डिंग गिर गई। फिलहाल पुलिस के पास कई ऐसे सवाल हैं जिसका जवाब नवाजिश को देना होगा। अगर नवाजिश दोषी पाए गए तो गिरफ्तारी के बाद जेल भी जाना पड़ सकता है।

उधर, पूर्व सपा नेता जीशान हैदर की मां बेगम हैदर और उनकी पत्नी उज़्मा हैदर की इस हादसे में मौत हो गई। लखनऊ में सिविल हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने उनकी मौत की पुष्टि की है। एक ही परिवार में दो लोगो की हुई मौत से कोहराम मच गया है।

read more : रिटायर प्रोफेसर और लेखक केएस भगवान ने भगवान राम को लेकर दिया विवादित बयान

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments