Wednesday, July 17, 2024
Homeउत्तर प्रदेशपीएफआई से जुड़े मामले में एटीएस और यूपी एसटीएफ की छापेमारी

पीएफआई से जुड़े मामले में एटीएस और यूपी एसटीएफ की छापेमारी

आज यूपी के दो जनपदों में पीएफआई से जुड़ी ताबड़तोड़ छापेमारियां हुईं। यूपी के कई शहरों में यूपी एटीएस ने ताबड़तोड़ छापेमारी की है। लखनऊ, मेरठ, मुरादाबाद, वाराणसी, आजमगढ़ समेत कई शहरों में एटीएस की टीमों ने एक साथ सर्च ऑपरेशन चलाया है। गाजियाबाद और मेरठ में यूपी एसटीएफ और एटीएस की टीमों ने कुछ संदिग्ध लोगों को हिसारत में लिया है।

यूपी एसटीएफ ने गाजियाबाद के मोदीनगर में भोजपुर के कलछीना में छापेमारी की है। तो वहीं लखनऊ के विकास नगर से भी एक युवक को उठाया है। मेरठ पहुंची एटीएस की टीम ने लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र से एक 32 साल के युवक को डिटेन किया है। यूपी एसटीएफ और एटीएस की अलग-अलग टीमों ने मेरठ और गाजियाबाद में पीएफआई से जुड़े होने के संदेह में ये छापेमारियां की और कुल 7 लोगों को हिरासत में लिया।

एटीएस ने लखनऊ से 2 लोगों को उठाया

इस सर्च ऑपरेशन में एटीएस की एक टीम ने लखनऊ के विकास नगर से भी एक युवक को उठाया है। युवक को उठाने का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। बीकेटी के अचरामऊ गांव में भी एटीएस ने छापा मारा है। पीएफआई से जुड़े 2 लोगों को एटीएस ने हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

पीएफआई से जुड़े होने की आशंका में हुई छापेमारी

गाजियाबाद में यूपी एसटीएफ ने मोदीनगर के भोजपुर के कलछीना में आज छापेमारी की है। मुरादनगर के रावली कला और नूरपुर में भी एटीएस ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि देर रात्रि हुई इस छापेमारी में पीएफआई से जुड़े 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वहीं मेरठ पहुंची एटीएस की टीम ने भी थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र से एक 32 साल के व्यक्ति को हिरासत में लिया है। डिटेन किए गए शख्स की पहचान अताउरर्हमान पुत्र हफीजुद्दीन के तौर पर हुई है।

जानकारी है कि अताउरर्हमान गली नंबर 4 शाहजहां कॉलोनी थाना लिसाड़ी गेट मेरठ का रहने वाला है। पीएफआई से जुड़े होने की आशंका के चलते एटीएस की टीम इसे अपने साथ लेकर गयी है। एटीएस ने उसके दोनों मोबाइल भी कब्जे में लिए हैं।

पीएफआई के ‘मॉड्यूल’ से जुड़े मामले में यूपी का शख्स गिरफ्तार

वहीं इससे पहले राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) ने प्रतिबंधित संगठन ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ (पीएफआई) के बिहार में एक संदिग्ध ‘मॉडयूल’ की अपनी जांच के तहत उत्तर प्रदेश के एक शख्स को मंगलवार को गिरफ्तार किया था। एनआईए के प्रवक्ता ने कहा कि गिरफ्तार किया गया अनवर राशिद नाम का व्यक्ति मामले में 14वां आरोपी है। यह मामला शुरूआत में, पिछले साल 12 जुलाई को बिहार के फुलवारी शरीफ पुलिस थाने में दर्ज किया गया था और संघीय एजेंसी ने 10 दिन बाद इसे पुन:दर्ज किया था।

एक अधिकारी ने बताया कि 25 अप्रैल को राशिद के घर में ली गई तलाशी के दौरान जब्त कई संदिग्ध दस्तावेज, डिजिटल उपकरणों और पत्रों की विस्तृत जांच के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘जांच में यह खुलासा हुआ कि राशिद प्रतिबंधित आतंकी संगठन सिमी (स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ़ इंडिया) का पूर्व सदस्य है और वह अभी बिहार और उत्तर प्रदेश में पीएफआई के कई सदस्यों से जुड़ा हुआ है।

read more : तिहाड़ गैंगवार में एक के पीछे एक दो मर्डर के बाद जागा जेल प्रशासन

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments