Wednesday, July 17, 2024
Homedelhiकंझावला कांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, पीड़िता के पोस्टमॉर्टम में रेप...

कंझावला कांड: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, पीड़िता के पोस्टमॉर्टम में रेप की पुष्टि नहीं

कंझावला कांड में पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आ गई है। इसमें बताया गया है कि पीड़िता से रेप नहीं हुआ है और उसके सिर और रीढ़ की हड्डी बुरी तरह डैमेज हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़िता के सिर, रीढ़, दोनों निचले अंगों में मौत के पहले लगी चोट की वजह से ब्लीडिंग हुई थी। सभी चोटें वाहन के एक्सीडेंट और घिसटने की वजह से लगने की आशंका जताई गई है। इस मामले में आखिरी रिपोर्ट जल्द ही मिलेगी और मामले की जांच जारी है।

दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्र ने बताया कि रिपोर्ट में मौत का अस्थाई कारण सिर, रीढ़, बाएं फीमर, दोनों निचले अंगों में लगी चोट से ब्लीडिंग बताया गया है। सभी चोटें ब्लंट फोर्स, वाहन दुर्घटना और घिसटने के कारण लगी हैं। इसके अलावा, रिपोर्ट इशारा करती है कि यौन हमले की वजह से कोई चोट नहीं लगी है।

यौन उत्पीड़न के कोई सबूत नहीं मिले

यौन उत्पीड़न के कोई सबूत नहीं मिले हैं। मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में एक चिकित्सकीय बोर्ड ने पीड़िता के शव का पोस्टमॉर्टम किया था। कंझावला में 20 वर्षीय पीड़िता की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी थी और युवती को सुल्तानपुरी से कंझावाला तक करीब 12 किलोमीटर घसीटते हुई ले गए। इस दर्दनाक घटना में युवती की मौत हो गई थी। पुलिस ने कार में कथित तौर पर सवार पांच लोगों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया था।

आरोपियों को पुलिस हिरासत में भेजा

सुल्तानपुरी निवासी पीड़िता एक कार्यक्रम प्रबंधन फर्म में काम करती थी और नव वर्ष की पूर्व संध्या पर काम के सिलसिले में बाहर थी। जब यह घटना हुई। कार में कथित तौर पर सवार पांच लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या समेत अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। एक स्थानीय अदालत ने पांचों आरोपियों को तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है ।

पूरे शरीर पर चोट के निशान

पुलिस से जुड़े सूत्र ने बताया, ‘पोस्टमार्टम से पता लगा है कि पीड़िता के पूरे शरीर पर चोट के निशान हैं। लेकिन उसके निजी अंगों पर चोट के कोई निशान नहीं पाए गए। हालांकि पुलिस ने आगे की जांच के लिए एहतियातन पीड़िता का जींस, स्वाब सुरक्षित रख लिए हैं।

read more : यात्रा ने किया यूपी में प्रवेश, क्या पश्चिम से पूर्वांचल को संदेश दे पाएगी कांग्रेस ?

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments