Thursday, July 18, 2024
Homeदेशभारत जोड़ो यात्रा से मैंने बहुत कुछ सीखा, लोगों का मिला अपार...

भारत जोड़ो यात्रा से मैंने बहुत कुछ सीखा, लोगों का मिला अपार समर्थन – राहुल गाँधी

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा आज जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में समाप्त होने जा रही है। यात्रा के समापन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि मैंने इस यात्रा से बहुत कुछ सीखा है और लोगों ने अपार समर्थन दिया है। राहुल के नेतृत्व में की जा रही इस यात्रा में आज कई विपक्षी पार्टियों को बुलाया गया था, जिसमें से कई दलों ने यात्रा से दूरी बनाने का फैसला किया।

वही इस मौके पर शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में लोगों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के बारे में बताते हुए कहा कि मेरे दिल में था कि रास्ता आसान होगा। मैंने सोचा था कि चलना मुश्किल काम नहीं होगा पर थोड़ा सा अहंकार आ गया। उन्होंने आगे कहा कि फिर बात बदल गई।

छोटे बच्चों से मिली प्रेरणा – राहुल गाँधी

इस दौरान राहुल गांधी ने संबोधित करते हुए कहा कि मैंने बहुत कुछ सीखा। एक दिन मुझे बहुत दर्द हो रहा था। मैंने सोचा कि मुझे 6-7 घंटे और चलना होगा और यह मुश्किल होगा। लेकिन एक लड़की दौड़ती हुई मेरे पास आई और बोली कि उसने मेरे लिए कुछ लिखा है। उसने मुझे गले लगाया और भाग गई। मैंने इसे पढ़ना शुरू किया। उसने लिखा, “मैं देख सकती हूं कि आपके घुटने में दर्द हो रहा है क्योंकि जब आप उस पैर पर दबाव डालते हैं, तो यह आपके चेहरे पर दिखता है।

मैं आपके साथ नहीं चल सकती लेकिन मैं दिल से आपके साथ चल रही हूं क्योंकि मुझे पता है कि आप चल रहे हैं। मेरे और मेरे भविष्य के लिए। ठीक उसी क्षण, मेरा दर्द गायब हो गया।

अहंकार पर आक्रमण करना भगवान शिव की सोच – राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि मेरा अपना घर नहीं है, मैं सरकारी घरों में रहा हूं। घर मेरे लिए एक जीने का और सोचने का तरीका है। उन्होंने कहा कि जिस चीज को लोग कश्मीरियत कहते हैं, उसको मैं अपना घर मानता हूं। शिव जी की सोच है अपने आप पर, अपने अहंकार पर आक्रमण करना। उन्होंने कहा कि इस्लाम में फना का मतलब है कि अपनी सोच पर आक्रमण करना।

पीएम मोदी और अमित शाह ने हिंसा नहीं देखी

इस दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी और आरएसएस पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह ने हिंसा नहीं देखी। बीजेपी और आरएसएस वाले डरते हैं। राहुल ने कहा कि बीजेपी का नेता मेरी तरह कश्मीर में नहीं चल सकता। मैं हिंसा को समझता हूं, मैं हिंसा देखी है। राहुल गांधी ने कहा है कि उन्होंने हिंसा देखी है, उन्होंने हिंसा सही है।

भाई ने लोगों का दर्द जाना- प्रियंका

प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरा भाई कन्याकुमारी से 4-5 महीने पैदल चला और वे जहां भी जाते, लोगों से उन्हें काफी प्यार मिलता। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इस देश में अभी भी देश के लिए, इसकी विविधता के लिए एक जुनून है जो सभी भारतीयों के दिलों में बसता है।

मां और बहन को राहुल गाँधी ने लिखा संदेश

प्रियंका ने कहा कि जब मेरा भाई कश्मीर आ रहा था, तो उसने मेरी मां और मुझे एक संदेश भेजा। कांग्रेस नेता ने बताया कि राहुल कश्मीर को अपने घर की तरह मानते हैं और इसलिए ही राहुल ने कहा था कि मेरे परिवार के लोग मेरा इंतजार कर रहे हैं।

गोडसे की विचारधारा ने कश्मीर से सब छीना – महबूबा मुफ्ती

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती राहुल की इस यात्रा के समापन कार्यक्रम में आज भी शामिल हुईं। उन्होंने बर्फबारी के बीच लोगों को संबोधित किया और राहुल गांधी की खूब प्रशंसा की। मुफ्ती ने कहा कि राहुल ने यात्रा में कहा था कि वे कश्मीर में अपने घर आ गए हो ऐसा लगता है, लेकिन यह उनका घर ही है। पीडीपी नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि गोडसे की विचारधारा ने जम्मू-कश्मीर से जो छीन लिया, वह इस देश से वापस मिल जाएगा और राहुल गांधी में देश आशा की किरण देख रही है।

भारत जोड़ो यात्रा श्रीनगर में खत्म

बता दें कि भारी बर्फबारी के बीच राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा सोमवार को श्रीनगर में खत्म हो गई। ये 145 दिन पहले 7 सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई थी। क्लोजिंग सेरेमनी के दौरान शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में रैली रखी गई। इसमें प्रियंका गांधी, महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला और मल्लिकार्जुन खड़गे ने स्पीच दी।

read more : मुरैना के पास सुखोई-30 और मिराज-2000 क्रैश, पीएमओ से लेकर रक्षा मंत्री तक एक्टिव

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments