Thursday, July 18, 2024
Homeदेशकेंद्रीय बजट पर आने लगे रिएक्शन, आइये जानते है किसने क्या कुछ...

केंद्रीय बजट पर आने लगे रिएक्शन, आइये जानते है किसने क्या कुछ कहा ?

आज लोकसभा में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2023-24 पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर है और उज्‍जवल भविष्य की तरफ आगे बढ़ रही है। दरअसल, वित्त मंत्री ने वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारत की भूमिका को और मजबूत करने का की बात कही। वहीं, केंद्रीय बजट 2023-24 पेश होने के बाद बजट पर चर्चाएं तो शुरु हो गई है। इसके साथ ही आम बजट को लेकर प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगीं हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने आम बजट को लेकर दी प्रतिक्रिया

आम बजट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसमें गांव, गरीब और किसानों का ध्यान रखा गया। उन्होंने कहा कि इस बजट में मिडिल क्लास का भी खास ध्यान रखा गया है। प्रधानमंत्री ने कहा, इस बजट से विकसित भारत का सपना पूरा होगा। हमने टेक्नोलॉजी पर बहुत बल दिया है। उन्होंने कहा कि बजट में वंचितों को वरियता दी गई है। महिलाओं के लिए भी विशेष बजट है। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये बजट भारत के विकास को नई गति देगा। उन्होंने कहा इस बजट में MSMEs का भी ध्यान रखा गया है और पेमेंट की भी नई व्यवस्था बनाई गई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं निर्मला सीतारामन को इस बजट के लिए बधाई देता हूं।

बसपा सुप्रीमो मायावती के ट्वीट कर लिखा

देश में पहले की तरह पिछले 9 वर्षों में भी केन्द्र सरकार के बजट आते-जाते रहे, जिसमें घोषणाओं, वादों, दावों व उम्मीदों की बरसात की जाती रही है। किन्तु वे सब बेमानी हो गए, जब भारत का मिडिल क्लास महंगाई, गरीबी व बेरोजगारी आदि की मार के कारण लोवर मिडिल क्लास बन गया। ये अति-दुखद है। इस वर्ष का बजट भी कोई ज्यादा अलग नहीं है। पिछले साल की कमियां कोई सरकार नहीं बताती, नए वादों की फिर से झड़ी लगा देती हैं। जबकि जमीनी हकीकत में 100 करोड़ से अधिक जनता का जीवन वैसे ही दाव पर लगा रहता है, जैसे पहले था। लोग उम्मीदों के सहारे जीते हैं, लेकिन झूठी उम्मीदें क्यों ?

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव किया ट्वीट

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा कि भाजपा अपने बजट का दशक पूरा कर रही है, पर जब जनता को पहले कुछ न दिया तो अब क्या देगी। भाजपाई बजट महंगाई व बेरोज़गारी को और बढ़ाता है। किसान, मज़दूर, युवा, महिला, नौकरीपेशा, व्यापारी वर्ग में इससे आशा नहीं निराशा बढ़ती है, क्योंकि ये चंद बड़े लोगों को ही लाभ पहुँचाने के लिए बनता है।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया ट्वीट

आम बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर लिखा- “मैं आजादी के अमृत काल में प्रस्तुत ‘विकसित भारत’ के संकल्प को पूर्ण करते सर्वसमावेशी और लोक-कल्याणकारी केंद्रीय बजट 2023-24 का स्वागत करता हूं। आदरणीय प्रधानमंत्री जी एवं मा. केंद्रीय वित्त मंत्री जी का हार्दिक अभिनंदन! वर्तमान केंद्रीय बजट गांव, गरीब, किसान, नौजवान व महिलाओं समेत समाज के हर वर्ग की आशाओं और राष्ट्र के समग्र उत्थान की अपेक्षाओं को पूरा करने वाला है। निःसंदेह, यह बजट भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा। आज प्रस्तुत हुए आम बजट 2023-24 में ‘नए भारत’ की समृद्धि का संकल्प है, अंत्योदय का विजन है। 130 करोड़ देश वासियों की सेवा का लक्ष्य है।

आम बजट पर बोले कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम

कांग्रेस सरकार में वित्तमंत्री रहे ​पी. चिदंबरम के बेटे और दिग्गज कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने दिल्ली में बजट के समापन पर कहा कि बजट का एक बड़ा हिस्सा राष्ट्रपति के अभिभाषण और आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट की पुनरावृत्ति है। हालांकि उन्होंने इस बात की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस बजट में टैक्स में किसी भी तरह की कटौती का स्वागत है। लोगों के हाथ में पैसा देना अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा तरीका है।

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला ने कहा

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने दिल्ली में बजट के समापन पर अपने कथन में कहा कि इस बजट में मध्यम वर्ग को मदद दी गई है, सबको कुछ न कुछ दिया गया है। अब्दुल्ला ने कहा कि डेढ़ घंटे तक हमने बजट सुना अब हम इस पर बात करेंगे, जब मौका आएगा।

बजट में मनरेगा का कोई जिक्र नहीं था – सांसद शशि थरूर

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि बजट में कुछ चीजें अच्छी थी मैं इसे पूरी तरह नकारात्मक नहीं कहूंगा, लेकिन अभी भी कई सवाल उठते हैं। बजट में मनरेगा का कोई जिक्र नहीं था। सरकार मजदूरों के लिए क्या करने जा रही है? बेरोजगारी, महंगाई की बात भी नहीं की गई।

इस केंद्रीय बजट से महिला का सम्मान बढ़ा – स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि इस बजट से महिला का सम्मान बढ़ा, बच्चों और किशोरों के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की घोषणा से ज़िला स्तर पर बच्चे कैसे पढ़ेंगे और बढ़ेंगे इसका उल्लेख किया गया है। नारी शक्ति एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण कैसे कर सकती है इसका प्रतिबिंब आज के बजट में दिखता है। ये बजट मध्यम वर्ग के हित में भी है, इससे भारत प्रफुल्लित है भले ही विपक्ष नाराज हो।

राजनाथ सिंह ने की आम बजट की तारीफ

बजट को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 2023-24 का केंद्रीय बजट किसानों, महिलाओं, हाशिए पर पड़े वर्गों और मध्यम वर्ग को सहायता प्रदान करने की प्राथमिकता के साथ विकास और कल्याण पर केंद्रित है। सिंह ने कहा कि बजट प्रस्ताव देश को कुछ वर्षों के भीतर 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था और विश्व स्तर पर शीर्ष तीन अर्थव्यवस्था बनने के अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में ले जाएगा।

ये तो बजट वही है जो पिछले 8-9 साल से आ रहा था – महबूबा मुफ्ती

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा कि यह बजट वही है जो पिछले 8-9 साल से आ रहा था। टैक्स बढ़ाए गए, कल्याणकारी योजनाओं और सब्सिडी पर पैसा खर्च नहीं किया जा रहा है। कुछ सांठगांठ वाले पूंजीपतियों और बड़े कारोबारियों के लिए टैक्स वसूला जा रहा है। जनता को टैक्स से फायदा होना चाहिए लेकिन इससे उसकी कमर टूट रही है।

रोजगार के लिए गोल-गोल बातें – आरजेडी सांसद मनोज झा

आरजेडी सांसद मनोज झा ने कहा कि मैंने वित्त मंत्री को कई बार कहा है कि जब भी बजट बनाए तो अनुच्छेद 39 को देख लें। संविधान से आंखें मूंद कर स्तुति गान वाला बजट बनाते हैं तो कुछ हासिल नहीं होगा। रोजगार के लिए आपने गोल-गोल बातें की। ये बजट खास लोगों का खास लोगों द्वारा खास तरह से बनाया बजट है।

किसानों के लिए कुछ नहीं – सांसद डिंपल यादव

सपा सांसद डिंपल यादव ने कहा कि ये चुनावी बजट है, किसानों के लिए कुछ नहीं है। किसानों की एमएसपी की बात नहीं की है। रेलवे को पूरी तरह नज़रअंदाज़ किया गया है। आधी से ज्यादा आबादी गांव में बसती है लेकिन उनके लिए कुछ नहीं किया है। ये बहुत ही निराशाजनक बजट है।

ये आम बजट बहुत अच्छा – गौतम गंभीर

भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि आम आदमी के लिए ये बजट बहुत अच्छा है, ये एक ऐतिहासिक कदम है। मध्यम वर्ग को इस बजट से बहुत राहत मिलेगी।

अमृतकाल का पहला बजट बहुत क्रांतिकारी – मनोहर लाल

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अमृतकाल का पहला बजट बहुत क्रांतिकारी है, ये समाज के हर वर्ग को राहत देने वाला है। विशेषकर मध्यम वर्ग को आयकर में राहत दी गई है। जो टैक्स स्लैब बनाया गया है वो राहत देने वाला है। युवा, महिला, वरिष्ठ नागरिक सभी को इस बजट में राहत दी गई है।

read more : दो शातिर लूटेरो को गिरफ्तार कर भेजा जेल, लूट के 12 मोबाइल बरामद

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments