Wednesday, July 17, 2024
Homeउत्तर प्रदेशमहाराष्ट्र के बीड में माफिया ब्रदर्स के लगे शहीद वाले बैनर, दो...

महाराष्ट्र के बीड में माफिया ब्रदर्स के लगे शहीद वाले बैनर, दो गिरफ्तार

महाराष्ट्र के बीड जिले में माफिया ब्रदर्स अतिक अहमद और अशरफ के बैनर लगाए गए हैं। इन बैनर में दोनों माफिया ब्रदर्स को शहीद का दर्जा दिया गया है। दरअसल, बीड जिले के मजलगांव शहर में अतीक अहमद के समर्थन में बैनर लगाए गए और इसमें दोनों को शहीद बताया गया है। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि 100 से ज्यादा आपराधिक मुकदमों का आरोपी माफिया और पूर्व सांसद की हाल ही में उसके भाई अशरफ के साथ गोली मारकर हत्या कर दी गई।

मोहसिन भैया मित्र मंडल ने लगाया बैनर

ये बैनर मोहसिन भैया मित्र मंडल की ओर से लगाया गया था। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और पुलिस मोहसिन पटेल की तलाश कर रही है। इस मामले में और भी आरोपियों की गिरफ्तारी हो सकती है, पुलिस जांच में जुटी है। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के टॉप माफिया ब्रदर्स अतीक अहमद और अशरफ को पत्रकारों के रूप में आए तीन लोगों ने शनिवार की रात उस वक्त गोली मार दी जब पुलिसकर्मी उन्हें मेडिकल जांच के लिए प्रयागराज के एक मेडिकल कॉलेज ले जा रहे थे।

माफिया ब्रदर्स को शहीद बताने वाले दो लोग गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में फायरिंग में मारे गए माफिया ब्रदर्स अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ के समर्थन में मजलगांव कस्बे में बैनर लगाए गए तो पुलिस की नजर पड़ते ही तुरंत बैनर हटा दिया गया। ये बैनर मौसिन भैया मित्र मंडल की तरफ से लगाया गया था। पुलिस ने इस मामले में तुरंत एक्शन लेते हुए तफ्तीश कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इस बैनर पर अतीक अहमद और अशरफ दोनों को शहीद के रूप में बताया गया था।

पुलिस ने 4 लोगों पर किया मामला दर्ज

वहीं इस मामले पर पुलिस अधिकारी स्वप्निल राठौड़ ने बताया कि माफिया ब्रदर्स अतीक अहमद और अशरफ को शहीद बताने और श्रद्धांजलि देने वाला फ्लेक्सबोर्ड मजलगांव में लगाया गया था। उस फ्लेक्सबोर्ड पर कुछ शब्द धार्मिक तनाव पैदा कर देने वाले लिखे गए थे। उसके चलते उस जगह से हमने फौरन बैनर हटा दिया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमने फ्लेक्सबोर्ड छापने वाले और उसे लगाने वाले ऐसे कुल 4 लोगों पर एफआईआर दर्ज किया है। इसमें से 2 लोगों को फौरन अरेस्ट कर लिया गया है। उसके चलते कोर्ट ने उन दोनों को 2 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा है।

read more : लो अब पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज, एसआईटी ने शुरू की जांच

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments