Wednesday, July 17, 2024
Homeउत्तर प्रदेशगंगा विलास क्रूज की शुरुआत, विदेशों जैसा अनुभव अब भारत में -...

गंगा विलास क्रूज की शुरुआत, विदेशों जैसा अनुभव अब भारत में – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने वाराणसी में टेंट सिटी का वर्चुअली उद्घाटन कर दिया है। इसी के साथ पीएम ने वाराणसी-डिब्रूगढ़ के बीच यात्रा करने वाले रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास को भी हरी झंडी दिखा दी है। केंद्रीय मंत्री एस सोनोवाल, यूपी के सीएम आदित्यनाथ लॉन्च इवेंट में मौजूद हैं। बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और असम के सीएम हिमन्त बिश्व शर्मा वर्चुअली इवेंट में शामिल हुए हैं।

पीएम मोदी ने लॉन्च के बाद कहा, “रिवर क्रूज गंगा विलास का शुभारंभ हो गया है। गंगा नदी हमारे लिए सिर्फ जलधारा नहीं है। बल्कि प्राचीन काल से तप-तपस्वियों की साक्षी है। मां गंगा ने भारतीयों को हमेशा पोषित किया है, प्रेरित किया है। गंगा पट्टी आजादी के बाद पिछड़ती चली गई। लाखों लोगों का पलायन हुआ। इस स्थिति को बदलना जरूरी था और हमने नई सोच के साथ काम करना शुरू किया।

व्यापार, पर्यटन और रोजगार के अवसरों का विस्तार

आज काशी से डिब्रूगढ़ के बीच दुनिया की सबसे लंबी नदी जल यात्रा गंगा विलास क्रूज का शुभारंभ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज एक हजार करोड़ रुपये से अधिक की अंतर्देशीय जलमार्ग की अनेक परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है। इससे पूर्वी भारत में व्यापार और पर्यटन और रोजगार के अवसरों का विस्तार होगा। काशी में गंगा पार बनी अद्भूत टेंट सिटी से वहां आने वाले और रहने का एक और बड़ा कारण देश-दुनिया के पर्यटकों-श्रद्धालुओं को मिला है।

पर्यटक ऐसे अनुभवों के लिए विदेश जाते थे – पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि ये गंगा विलास क्रूज उत्तर प्रदेश, बिहार, प.बंगाल, बांग्लादेश और असम की यात्रा के दौरान हर तरह की सुविधा मुहैया कराएगा। ये क्रूज यात्रा एक साथ अनेक नए अनुभव लेकर आने वाली है। क्रूज़ टूरिज्म का ये नया दौर इस क्षेत्र में हमारे युवा साथियों को रोजगार-स्वरोजगार के नए अवसर देगा। विदेशी पर्यटकों के लिए तो ये आकर्षण होगा ही साथ देश के भी जो पर्यटक पहले ऐसे अनुभवों के लिए विदेश जाते थे। वो भी अब पूर्वी-उत्तर पूर्वी भारत का रुख कर पाएंगे।

क्रूज टूरिज्म का नया दौर – पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “क्रूज टूरिज्म का नया दौर इस क्षेत्र में रोजगार, स्वरोजगार के नए अवसर देगा। विदेशी पर्यटकों के साथ देश के पर्यटकों के लिए भी ये खास अनुभव होगा। ये क्रूज जहां से भी गुजरेगा वहां विकास की नई रोशनी लाएगा। हम शहरों के बीच लंबे रिवर क्रूज के अलावा, अलग-अलग शहरों में छोटे क्रूज को भी बढ़ावा दे रहे हैं। काशी में भी ऐसी व्यवस्था चल रही है। बजट से लेकर लग्जरी क्रूज तक, हर प्रकार की सुविधाओं पर ध्यान दिया जा रहा है।

24 राज्यों में 111 राष्ट्रीय जलमार्ग हो रहे विकसित

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये गंगा विलास क्रूज 25 अलग-अलग नदियों से होकर गुजरेगा और जो लोग भारत के समृद्ध खान-पान का अनुभव लेना चाहते हैं। उनके लिए भी ये बेहतरीन अवसर है। यानी भारत की विरासत और आधुनिकता का अद्भुत संगम हमें इस यात्रा में देखने को मिलेगा। इस दौरान पीएम ने कहा कि 2014 में सिर्फ 5 राष्ट्रीय जलमार्ग भारत में थे। आज 24 राज्यों में 111 राष्ट्रीय जलमार्गों को विकसित करने का काम हो रहा है। इनमें से लगभग दो दर्जन जलमार्गों पर सेवाएं चल रही हैं।

5 प्रदेश और 2 देशों से होकर जाएगा डिब्रूगढ़

बता दें कि पीएम मोदी ने जिस गंगा विलास क्रूज को हरी झंडी दिखाई है वह दुनिया का सबसे लंबा रिवर क्रूज है। गंगा विलास क्रूज को अंतरा लग्जरी रिवर क्रूज ऑपरेट कर रही है। 5 प्रदेश और 2 देशों को पार करते हुए ये क्रूज डिब्रूगढ़ पहुंचेगा। 27 छोटी बड़ी नदियां क्रूज के रास्ते में आएंगी। करीब 40 क्रू मेंबर वाला ये क्रूज अंदर से काफी खूबसूरत है।

read more : हुबली में रोड शो के दौरान पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक, मचा हड़कंप

गंगा विलास क्रूज में क्या है खास –

>>  सभी सुइट्स में मॉडर्न फैसिलिटी

>>  सुइट से गंगा का भव्य नजारा दिखेगा

>>  हाईटेक स्पा, सैलून और जिम

>>  स्टीम बाथ, आयुर्वेदिक मसाज की सुविधा

>>  मेन डेक पर 40 सीटों वाला रेस्तरां

>>  आधुनिक सुविधाओं से लैस जिम

>>  रूफ टॉप पर सन बाथ का इंतजाम

>>   क्रूज पर स्विमिंग पूल की सुविधा

>>   एक दिन का खर्च करीब 25 हजार

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments