Thursday, July 18, 2024
Homeउत्तर प्रदेशचाचा शिवपाल से मिले अखिलेश, मैनपुरी उम्मीदवार डिंपल यादव भी रहीं मौजूद

चाचा शिवपाल से मिले अखिलेश, मैनपुरी उम्मीदवार डिंपल यादव भी रहीं मौजूद

उत्तर प्रदेश का मैनपुरी उपचुनाव खूब राजनीतिक सुर्खियां बटोर रहा है। नेताजी मुलायम सिंह यादव के निधन से खाली हुई मैनपुरी पर यादव परिवार का दांव लगा है। बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी कह चुके हैं । विपक्ष के पास अब कोई ऐसी सीट नही है जो सेफ हो। बीजेपी हर जगह सेंध मारी कर चुकी है। इस बीच समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और मैनपुरी उपचुनाव के लिए पार्टी की उम्मीदवार डिंपल यादव प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का मनुहार करने उनके आवास पहुंचे।

ऐसा माना जा रहा है कि मुलाकात के दौरान मैनपुरी उपचुनाव की रणनीति को लेकर चर्चा हुई। यह मुलाकात उपचुनाव से पहले अहम मानी जा रही है। जो एक घंटे से भी ज्यादा चली। इसके बाद अखिलेश और डिंपल मैनपुरी के लिए रवाना हो गए। वहीं, शिवपाल की ताखा ब्लॉक क्षेत्र के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ चर्चा हुई।

मुलाकात की एक फोटो ट्वीटर पर शेयर करते हुए अखिलेश यादव ने लिखा की नेता जी और घर के बड़ों के साथ-साथ मैनपुरी की जनता का भी आशीर्वाद साथ है। आपको बता दे कि 2017 में विधानसभा चुनाव के दौरान शिवपाल यादव और अखिलेश यादव के बीच दूरियां बढ़ गई थीं। जिसके बाद शिवपाल यादव सपा से अलग हो गए और अपनी नई पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया बना ली।

डिंपल के सामने हैं रघुराज

मैनपुरी संसदीय सीट पर होने वाले उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पत्नी डिंपल यादव को उम्मीदवार बनाया है। वहीं बीजेपी ने पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य को मैदान में उतारा है। नेताजी की विरासत को बचाने और डिंपल यादव को जिताने के लिए पूरा परिवार एक है। यही नहीं, अखिलेश यादव को पता है कि शिवपाल यादव की भूमिका इस उपचुनाव में कितनी अहम है। क्योंकि शिवपाल यादव खुद जसवंतनगर से विधायक हैं और जिले में उनकी पकड़ काफी मजबूत है।

शिवपाल के करीबी हैं रघुराज शाक्य

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी लोकसभा सीट खाली हुई है। जिस पर 5 दिसंबर को चुनाव होंगे। यहां बीजेपी ने सपा कैंडिडेट डिंपल यादव को टक्कर देने के लिए रघुराज शाक्य को मैदान में उतारा है, हालांकि रघुराज शाक्य को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है।

अखिलेश ने ट्वीट कर साझा की तस्वीर

अखिलेश यादव ने मुलाकात की एक तस्वीर अपने सोशल मीडिया पर शेयर की है। उन्होंने अपने ट्विटर पर एक फोटो शेयर करते हुए लिखा है कि नेता जी और घर के बड़ों के साथ-साथ मैनपुरी की जनता का भी आशीर्वाद साथ है।

चंद लाइन से दिया बड़ा संदेश

अखिलेश यादव के निकलने के बाद उनके चाचा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव अपने आवास से निकले और ठीक सामने स्थित एस एस मेमोरियल स्कूल कैंपस में जा पहुंचे। ऐसा बताया गया है कि शिवपाल सिंह यादव ने अपनी पार्टी के तमाम कार्यकर्ताओं को मैनपुरी संसदीय सीट के उपचुनाव के मद्देनजर संदेश देने के लिए बुलाया हुआ है। शिवपाल सिंह यादव के बाद उनके बेटे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य यादव भी निकल कर के बाहर आए। आदित्य यादव भी इस बैठक में शामिल थे।

तो मिल गया शिवपाल को सम्मान ?

बेशक इस आशीर्वाद बैठक के बाद शिवपाल सिंह यादव और अखिलेश यादव की ओर से मीडिया को कोई जानकारी साझा नहीं की गई हो। लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि यह मुलाकात पूरी तरह से मैनपुरी संसदीय सीट के उपचुनाव के मद्देनजर बहू डिंपल यादव को जिताने के लिए हुई है। चाचा शिवपाल सिंह यादव लगातार सम्मान की बात करते रहे हैं और ऐसा ही उनके तमाम समर्थकों की ओर से भी कहा गया है और जाहिर है कि आज अखिलेश यादव का उनके घर पर पहुंचकर उनसे मिलकर आशीर्वाद लेना निश्चित तौर पर सम्मान की श्रृंखला का एक बड़ा हिस्सा माना जाएगा।

शिवपाल की भूमिका काफी अहम

नेता जी मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी संसदीय सीट के उपचुनाव के लिए शिवपाल सिंह यादव की भूमिका अपने आप में बेहद महत्वपूर्ण है। असल में शिवपाल सिंह यादव जिस जसवंतनगर विधानसभा से 1996 से लगातार निर्वाचित होते हुए चले जा रहे हैं। यह विधानसभा सीट मैनपुरी संसदीय सीट के लिए कहीं ना कहीं संकटमोचक या फिर जीवन रक्षक की भूमिका में नजर आ रही है। इस विधानसभा सीट पर शिवपाल सिंह यादव ऐसे ही काबिज नहीं है। शिवपाल सिंह यादव ने अपने ऐसे कार्यकर्ता बनाए हुए हैं जो लगातार आंख बंद कर उनके लिए वोट डालने के लिए तैयार और तत्पर रहते हैं।

पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया निर्देश

इससे पहले शिवपाल सिंह यादव अपने कार्यकर्ताओं के बीच एस एस मेमोरियल स्कूल में बैठक करके कार्यकर्ताओं से साफ-साफ बोल चुके हैं कि बहू डिंपल यादव को चुनाव मैदान में हर हाल में जिताना है। इस बात को बैठक में शामिल होकर के बाहर निकले कार्यकर्ताओं की ओर से प्रभावी ढंग से बताया गया है। शिवपाल सिंह यादव को समाजवादी पार्टी की ओर से स्टार प्रचारक बनाया जा चुका है।

डिंपल को जिताने के लिए तय जिम्मेदारी

समाजवादी पार्टी में डिंपल यादव को जिताने के लिए अपने कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारियां भी तय कर दी है। हर विधानसभा के लिए जहां प्रभावी ने नेताओं को प्रभारी बनाया गया। वहीं दूसरी ओर स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को उनके साथ में कमेटी के रूप में कनेक्ट कर दिया गया है। समाजवादी पार्टी ऐसा चाहती है कि उनकी उम्मीदवार डिंपल यादव हर हाल में नेताजी मुलायम सिंह यादव की तरह जीतकर संसद की दहलीज तक पहुंचे।

यादव वोटरों की संख्या सबसे ज्यादा

मैनपुरी में करीब 18 लाख वोटर हैं। जिसमें सबसे ज्यादा 4 लाख 30 हज़ार के करीब यादव मतदाता हैं। शाक्य वोटरों की संख्या 3 लाख के करीब है। 2 लाख के करीब क्षत्रिय वोटर हैं। दलित वोट करीब डेढ़ लाख है। तो वहीं करीब 1 लाख 10 हज़ार ब्राह्मण मतदाता हैं। वहीं लोध वोटर भी करीब 1 लाख के करीब हैं। मुस्लिम मतदाता भी करीब 50 हजार के आस पास हैं। जबकि 20 हज़ार के करीब वैश्य वोटर हैं।

read more : आफताब ने श्रद्धा के सर को जलाया, नहीं जला तो मिट्टी में रगड़कर फेंका

RELATED ARTICLES

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments