हल्द्वानी हिंसा पर बड़ा खुलासा … सीएम धामी का सख्त एक्शन , जानिए अब कैसा है माहौल

हल्द्वानी हिंसा पर बड़ा खुलासा

उत्तराखंड के हल्द्वानी में अवैध मदरसा और धार्मिक स्थल को हटाए जाने को लेकर हिंसा हुई। हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में इस बवाल के बाद सुरक्षा को देखते हुए शहर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। साथ ही कर्फ्यू भी लगा दिया गया। अब इस मामले को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। देवभूमि को पहले से ही आगजनि करने की तैयारी कर ली गयी थी। इसकी इंटेलिजेंस रिपोर्ट स्थानीय प्रशासन को दी गयी थी। जिसमें कहा गया था कि मस्जिद और मदरसे हटाने की कार्रवाई को लेकर अब्दुल मालिक के साथ मुस्लिम संगठन और कट्टरपंथी लोग विरोध कर सकते हैं।

दंगाइयों को देखते हीं गोली मारने का आदेश

हल्द्वानी में हालात की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दंगाइयों को देखते हीं गोली मारने के आदेश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री धामी ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है और दंगाइयों पर कार्रवाई का भरोसा जताया है। हिंसा पर सरकार ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए है। बता दें , जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बनभूलपुरा क्षेत्र में शान्ति बनाए रखने को मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर दी गई है। पुरे क्षेत्र को पांच जोन में बाटा गया है।

आपको बता दें , हिंसा मामले में अब तक 19 नामजद आरोपियों सहित पांच हज़ार लोगों लोगों के खिलाफ तीन एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस दंगाइयों की पहचान में लगी हुई है।

हल्द्वानी में कैसे फैली हिंसा

हल्द्वानी में गुरुवार को मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र बनभूलपुरा में नगर निगम और पुलिस प्रशासन की टीम जब अवैध मदरसा और धार्मिक स्थल को तोड़ने पहुंची थी तभी उन्हें भारी भीड़ का सामना करना पड़ा। इस दौरान उपद्रवियों ने पुलिसकर्मी और नगर निगम कर्मचारियों पर पथरवा किया और आगजनी शुरू कर दी थी। इस हिंसा में 100 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए है।

डीएम वंदना सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया, ‘भीड़ ने थाने को घेर लिया और थाने के अंदर मौजूद लोगों को बाहर नहीं आने दिया गया। पहले पथराव किया गया और फिर पेट्रोल बम से हमला किया गया। थाने के बाहर वाहनों में आग लगा दी गई और धुएं के कारण दम घुटने लगा। उन्होंने कहा कि ,साजिश के तहत पुलिस टीम पर हमला किया गया और हमले की लंबी प्लानिंग की गई थी। जिसके तहत पत्थर इकट्ठा किए गए , पेट्रोल बम बनाए गए और फिर हमला किया गया।

Read More : अपने गुरु आशुतोष महाराज को वापस लाने के लिए मां आशुतोषाम्‍वरी ने ली समाधि

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here