मुस्लिम पक्ष ने ज्ञानवापी में पूजा का किया विरोध , जानिए इसपर क्या है कोर्ट का फैसला

ज्ञानवापी मामले में मुस्लिम पक्ष को एक और झटका

ज्ञानवापी मस्जिद के परिसर में वाराणसी कोर्ट के आदेश के बाद ही व्यासजी के तहखाने में पूजा शुरू हो गई है। इस बीच, आज यानि शुक्रवार को तहखाने में आरती और पूजा हुई। वहीँ , आज पहला जुम्मा है। मुस्लिम पक्ष ने नियत जगह पर नमाज़ पढ़ी इसके साथ ही शांतिपूर्ण तरीके से विरोध करने का फैसला किया है। ज्ञानवापी में पूजा पाठ के विरोध में मुस्लिम पक्ष ने कोर्ट का भी रुक किया।

इलाहाबाद कोर्ट ने शुक्रवार (आज ) को ज्ञानवापी मस्जिद समिति की याचिका पर सुनवाई की , जिसमें हिन्दू पक्ष को वाराणसी कोर्ट द्वारा मस्जिद में पूजा पाठ करने की अनुमति पर चुनौती दी गयी। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी को हाईकोर्ट से कोई राहत नहीं मिली है। हाईकोर्ट का कहना है कि जब तक 17 जनवरी के आदेश को चुनौती नहीं दी जाती , तब तक कुछ नहीं किया जा सकता। इसके साथ ही मस्जिद समिति को 6 फ़रवरी तक अपील में संशोधन करने को कहा है। अब ज्ञानवापी मामले में अगली सुनवाई 6 फ़रवरी को होगी।

ज्ञानवापी परिसर में एक साथ हुई नमाज़ और पूजा

आज दूसरे दिन भी विधि विधान से व्यासजी के तहखाने में पूजा पाठ किया गया। वहीँ , जुम्मे की नमाज़ भी हुई। इसे मद्देनज़र रखते हुए ज्ञानवापी और काशी विश्वनाथ मंदिर के में भारी पुलिसबल की तैनाती की गई है। इसके साथ-साथ आसपास की हर जगह पर पुलिसकर्मी तैनात हैं। नमाज़ से पहले संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल ने फ्लैग मार्च किया।

कोर्ट के आदेशानुसार ज्ञानवापी तहखाने में आज भी आरती और पूजा की गई। लोगों के बीच प्रसाद का वितरण भी किया गया। आपको बता दें कि अब हर दिन तहखाने में पांच बार आरती की जाएगी। तहखाने में पुजारी के अलावा आम लोगों को भी दर्शन की इजाजत है , हालांकि अब तक दूर से ही दर्शन की अनुमति है।

ज्ञानवापी परिसर में ही देवताओं की प्रतिमा स्थित

बुधवार को वाराणसी कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद में स्थित व्यासजी के तहखाने में पूजा पाठ करने की इजाज़त हिंदू पक्ष को दे दी है। आपको बता दें , कोर्ट ने प्रशासन को 7 दिन का समय दिया था जिसमें वह पूजा पाठ करने हेतु पुजारी नियुक्त कर सकें। लेकिन अगले सात घंटे में ही मंदिर में पूजा हो गई। फैसले की देर रात ही अष्ट देवताओं की प्रतिमा स्थित कर पूजा शुरू की गई और भोग अर्पित कर रात्री शयन भी कराया गया। ज्ञानवापी की पहली आरती की तस्वीर और वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रही हैं।

Read More : हेमंत सोरेन मामले में पीएमएलए कोर्ट का आया बड़ा फैसला, 5 दिन की मिली रिमांड