Interim Budget 2024 : जानिए बजट में आम लोगों के लिए क्या है ख़ास

Interim Budget 2024

आज भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश का अंतरिम Budget 2024 पेश किया। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह अंतिम बजट है। वैसे तो ये साल का आखिरी बजट नहीं है , क्योंकि अप्रैल-मई में आम चुनाव होने हैं। नई सरकार बनने के बाद पूर्ण बजट जुलाई में पेश होने की सम्भावना है । अंतरिम बजट को खास माना जा रहा है। पहले ही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण साफ कर दिया था कि इस बजट में कोई बड़ी घोषणा नहीं की जाएगी। इस अंतरिम बजट में ऐसी बहुत खास बातें हैं जो आम जनता की रोजमर्रा की जिदंगी को प्रभावित करेंगी। बजट में 4 सेक्‍टर्स पर फोकस रहा। जोकि गरीब, महिलाएं, युवा और अन्‍नदाता (किसान)।

Budget 2024 में महिलाओं के लिए क्या है खास

इस बजट में सरकार का गरीब , किसान , युवा और महिलाओं पर विशेष ध्यान रहा है। अंतरिम बजट में आशा बहनों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाएगा, 9 से 14 साल की लड़कियों को सर्वाइकल कैंसर का मुफ्त टीका लगाया जाएगा। वहीं मोदी सरकार के शासन में 10 वर्षों में करीब 1 करोड़ महिलाएं लखपति दीदी बनीं। अब 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य है। साथ ही मातृ शक्ति और बच्चियों के लिए नया कार्यक्रम लाया जाएगा।

Budget 2024 में गरीबों के लिए क्या है खास

किराए के मकान में रहने वाले लोग भी अब अपना घर बना पाएंगे। वहीं एक करोड़ घरों को 300 यूनिट सोलर बिजली मुफ्त मिलेगी। पीएम आवास योजना के तहत अब तक 3 करोड़ घर बनाए गए हैं। आने वाले 5 साल में 2 करोड़ और घर बनाए जाएंगे। इसके साथ ही पिछली बार की तरह इस बार भी 7 लाख रूपए तक की आय पर कोई टेक्स नहीं लगेगा।

किसानों के लिए कैसा है ये बजट

1 फरवरी को पेश किए गए इस बजट में किसानों पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। बता दें कि बजट में किसानों को सशक्त बनाने पर जोर डाला गया है। अबतक पीएम किसान योजना से 11.8 करोड़ लोगों को आर्थिक मदद मिली है।

युवाओं के लिए बड़ी घोषणाएं

देश में उच्च शिक्षा के लिए नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे, 7 आईआईटी 7 आईआईएम नए शुरू किए जाएंगे, युवाओं को स्टार्टअप के लिए टैक्स छूट 1 साल तक बड़ाई गई है। स्किल इंडिया मिशन के तहत 1.4 करोड़ युवाओं को ट्रेंड और 54 लाख लोगों को दोबारा से सिखाया गया। 3 हजार नई आईटीआई बनाई गईं।

बजट की बड़ी बातें

इस बजट में सर्वाइकल कैंसर को रोकने के लिए टीकाकरण अभियान शुरू किया जाएगा। साथ ही जुलाई में आने वाले फाइनल बजट में विकसित भारत को लेकर पूरा रोडमैप बताया जाएगा। वहीँ 1361 मंडियों को e-NAM से जोड़ा जाएगा। फिशरीज स्कीम में 1 लाख करोड़ का एक्सपोर्ट लक्ष्य है। इसके अलावा रिसर्च के लिए शून्य या कम ब्याज पर 1 लाख करोड़ के लोन की सुविधा दी जाएगी। रेलवे के लिए भी निति बताई जिसमें 40 हजार सामान्य बोगियों को वंदे भारत बोगी में बदला जाएगा।

Read More : Chandigarh Mayor Election : “यह लोकतंत्र की हत्या , हम 20 वे 15 फिर कैसे … ” : भगवंत मान