आदिवासियों के घर पत्तलों में खाना खाकर उंगलियां चाटने लगे अखिलेश यादव

आदिवासियों के घर पत्तलों में खाना खाकर उंगलियां चाटने लगे अखिलेश यादव
आदिवासियों के घर पत्तलों में खाना खाकर उंगलियां चाटने लगे अखिलेश यादव

मध्य प्रदेश में चुनावी तैयारियां अपने अंतिम दौर में हैं। यहां मुख्य रूप से लड़ाई भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच में है। चुनाव आयोग किसी भी दिन चुनावों का ऐलान कर सकता है। इसके बाद राज्य में आदर्श आचार सहिंता लागू हो जाएगी। वहीं इससे पहले समाजवादी पार्टी के प्रमुख और उत्तर प्रदेश के प्रमुख अखिलेश यादव ने राज्य का दौरान बढ़ाकर सियासी पारा बाधा दिया है। अखिलेश यादव ने आज प्रदेश के छतरपुर में राजनगर विधानसभा का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने एक आदिवासी परिवार के यहां भोजन भी किया।

इस दौरान उन्हें जंगलों के पेड़ के पत्तों से बनी पत्तलों और कटोरियों में खाना परोसा गया। उनके साथ कई अन्य स्थानीय नेताओं ने भी भोजन किया। बताया जा रहा है कि एक चुनावी जनसभा के दौरान एक स्थानीय महिला ने अखिलेश यादव को अपने घर भोजन के लिए आमंत्रित किया, जिसके बाद सपा प्रमुख महिला के घर खाना खाने पहुंचे।

आदिवासियों की स्थिति का जायजा लेने आए- अखिलेश यादव

इस दौरान सपा प्रमुख ने कहा, “हम मध्य प्रदेश में स्थिति का जायजा लेने आए हैं। अगर आप गठबंधन में आए हैं तो आपको स्थिति का जायजा लेना होगा की प्रत्याशी जीतने में सक्षम है कि नहीं और अगर गठबंधन से लड़ें तो भाजपा को हरा पाएंगे या नहीं।” उन्होंने कहा कि प्रदेश के चुनाव में अभी समय है अत: सरकार आदिवासियों की स्थिति का जायजा लेने ले और उनके हित के लिए सभी सरकारी योजनाओं को लागू करे।

मध्य प्रदेश में महिलाएं असुरक्षित- अखिलेश यादव

वहीं उज्जैन में हुई शर्मनाक घटना पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा, “12 साल की बेटी के साथ जो घटना हुई वह दर्दनाक है। सरकार को इसका जवाब देना चाहिए कि इन्होंने पिछले 20 सालों में माताओं-बहनों की सुरक्षा के लिए क्या किया। इन्होंने कुछ काम नहीं किया इसलिए ऐसी घटनाएं हो रही हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के आंकड़े बताते हैं कि महिलाएं इन राज्यों में असुरक्षित हैं।

read more : उज्जैन का निर्भया कांड, पुलिस ने मुख्य आरोपी को लिया हिरासत में