आतंकी फंडिंग के मामले में यासीन मलिक को उम्रकैद

आतंकी फंडिंग के मामले में यासीन मलिक को उम्रकैद
आतंकी फंडिंग के मामले में यासीन मलिक को उम्रकैद

जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के अलगाववादी नेता यासीन मलिक को दिल्ली की एक विशेष अदालत ने आतंकी फंडिंग के मामले में दोषी करारते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही दस लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। यासीन मलिक को सजा के बीच कश्मीर घाटी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और यासीन मलिक के घर पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। यही नहीं अदालत परिसर में भी सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी थी और फैसले से पहले डॉग स्क्वॉड के जरिए निगरानी की गई।

यासीन का कुबूलनामा

मलिक के वकील के मुताबिक उनकी प्रॉपर्टी के बारे में पता चला है. मलिक के पास 11 कनाल यानी करीब 5564 वर्ग मीटर जमीन है, जो उसने पुश्तैनी बताई है. इससे पहले गुरुवार को कोर्ट ने टेरर फंडिंग मामले में दोषी ठहराया था. यासीन मलिक ने सुनवाई के दौरान कबूल कर लिया था कि वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था.

आतंकी फंडिंग पर फैसला आज

दिल्ली में यासीन मलिक पर फैसले के बीच श्रीनगर के कुछ हिस्सों में शटडाउन देखा गया। शहर के कई हिस्सों में दुकानें बंद रहीं। हालांकि, इस दौरान सार्वजनिक परिवहन और निजी वाहनों की आवाजाही जारी रही। अधिकारियों के अनुसार, कानून और व्यवस्था की स्थिति के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा अधिकारियों को तैनात किया गया है।मलिक के वकील के मुताबिक उनकी प्रॉपर्टी के बारे में पता चला है. मलिक के पास 11 कनाल यानी करीब 5564 वर्ग मीटर जमीन है, जो उसने पुश्तैनी बताई है. इससे पहले गुरुवार को कोर्ट ने टेरर फंडिंग मामले में दोषी ठहराया था. यासीन मलिक ने सुनवाई के दौरान कबूल कर लिया था कि वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था| इससे पहले गुरुवार को कोर्ट ने टेरर फंडिंग मामले में दोषी ठहराया था. यासीन मलिक ने सुनवाई के दौरान कबूल कर लिया था कि वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था.

Read more : खाने का तेल होगा सस्ता , जनता को मिलेगी कुछ राहत