लखनऊ पुलिस ने 20 बसों का काटा चालान, 15 ई रिक्शा  किए गए जब्त 

लखनऊ

लखनऊ : लखनऊ की बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर पुलिस और परिवहन विभाग आमने सामने आ रहे हैं। आमदनी के चक्कर मे भीड़भाड़ के बीच सवारियां भर रही रोडवेज बसों का ट्रैफिक पुलिस ने चालान काट दिया। इसकी वजह से दोनों विभाग के अधिकारियों में तकरार बढ़ने लगी है।

शहर की यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने अभियान शुरू किया है। इसमें सड़क से अतिक्रमण हटाने से लेकर डग्गामार वाहनों और रोड पर सवारियां चढ़ाने उतारने वाली गाड़ियों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई हो रही है। मंगलवार को शुरू हुए अभियान के पहले दिन परिवहन निगम की बसें कार्रवाई की जद में आ गयी। चारबाग में बसें बीच सड़क पर सवारियां भर रही थी। इसकी वजह से भीषण जाम लगा देख DCP ट्रैफिक सुभाष चंद्र शाक्य का पारा चढ़ गया। उन्होंने कतार से 20 बसों का चालान काटकर परिवहन निगम को भेज दिया। अब परिवहन विभाग चालान की रकम जमा करने को लेकर परेशान है। इसलिए अधिकारी किसी भी तरह चालान रद्द करवाने के लिए DCP ट्रैफिक से बातचीत कर रहे हैं।

Read More : कांग्रेस पार्षदों ने पर झाड़ू लगाकर जताया विरोध

सवारियां उतारकर जब्त किए गए ई रिक्शे

अभियान के दूसरे दिन बुधवार को ट्रैफिक पुलिस नगर निगम के दस्ते के साथ निकली। टीम चारबाग पहुँची तो एक लाइन से 50 से ज्यादा ई रिक्शे सड़क पर ही सवारी भर रहे थे। जबकि इस रूट पर ई रिक्शा प्रतिबंधित कर दिया गया है। DCP ट्रैफिक ने यहाँ से 15 ई रिक्शा सीज कर जब्त कर लिया। इसके अलावा करीब 40 से ज्यादा ई रिक्शा का चालान काटा गया। DCP ने बताया कि ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए RTO, परिवहन निगम, LDA और नगर निगम को मिलकर जाम लगने की वजह को चिन्हित कर उसे दूर करना पड़ेगा।