सोनिया-राहुल से पूछताछ के बाद नेशनल हेराल्ड दफ्तर पर छापेमारी

नेशनल हेराल्ड केस
नेशनल हेराल्ड केस

प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम ने मंगलवार को (2 अगस्त) दिल्ली स्थित नेशनल हेराल्ड के दफ्तर में छापा मारा है। ईडी ने नेशनल हेराल्ड केस में हाल ही में सोनिया गांधी से पूछताछ की थी | इतना ही नहीं इससे पहले राहुल गांधी से भी इस मामले में पूछताछ की गई थी |

प्रवर्तन निदेशालय द्वारा नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी से पूछताछ के कुछ दिनों बाद, जांच एजेंसी दिल्ली में अखबार के कार्यालयों और एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (AJL) से जुड़े कई अन्य परिसरों सहित लगभग 12 स्थानों पर छापेमारी कर रही है। सूत्रों का कहना है कि जांच एजेंसी तलाशी के बाद इन संपत्तियों को कुर्क कर सकती है।

नेशनल हेराल्ड

क्या है नेशनल हेराल्ड ?

पं. जवाहर लाल नेहरू ने 20 नवंबर 1937 को एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड यानी AJL का गठन किया था। इसका उद्देश्य अलग-अलग भाषाओं में समाचार पत्रों को प्रकाशित करना था। उस वक्त यह तीन अखबारों को प्रकाशित करता था. इसमें नेशनल हेराल्ड (इंग्लिश), नवजीवन (हिंदी) एंड क़ौमी आवाज़ (उर्दू) शामिल था. नेशनल हेराल्ड एक अखबार था, जिसको जवाहर लाल नेहरू ने 500 स्वतंत्रता सेनानियों के साथ मिलकर शुरू किया था. इसमें ब्रिटिश के अत्याचारों के बारे में लिखा जाता था.

क्या है विवाद ?

2010 में AJL के शेयरधारकों को घाटा होने पर इसकी होल्डिंग यंग इंडिया लिमिटेड यानी YIL को ट्रांसफर कर दी गई। यंग इंडिया लिमिटेड की स्थापना उसी वर्ष यानी 2010 में हुई थी। इसमें तत्कालीन कांग्रेस पार्टी के महासचिव राहुल गांधी डायरेक्टर के रूप में शामिल हुए। कंपनी में 76 प्रतिशत हिस्सेदारी राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी के पास रखी गई। शेष 24 फीसदी कांग्रेस नेताओं मोतीलाल वोरा और ऑस्कर फर्नांडीस (दोनों का निधन हो चुका है) के पास थी।

शेयर ट्रांसफर होते ही AJL के शेयर होल्डर्स सामने आ गए। पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण, इलाहाबाद व मद्रास उच्च न्यायालयों के पूर्व मुख्य न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू सहित कई शेयरधारकों ने आरोप लगाया कि जब YIL ने AJL का ‘अधिग्रहण’ किया था तब उन्हें कोई नोटिस नहीं दिया गया था। यही नहीं, शेयर ट्रांसफर करने से पहले शेयर होल्डर्स से सहमति भी नहीं ली गई। बता दें कि शांति भूषण और मार्कंडेय काटजू के पिता के नाम पर AJL में शेयर था।

Read More : ‘महाभारत’ के ‘नंद’ का निधन, लम्बे समय से ग्रसित थे इस बीमारी से …

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here