ममता मंत्रिमंडल में फेरबदल, सत्ता में आने के बाद बड़ा बदलाव

ममता मंत्रिमंडल में फेरबदल

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज अपने मंत्रिमंडल में बदलाव कर रही हैं। तृणमूल मंत्रिमंडल में नौ सदस्यों को शामिल किए जाने की संभावना है। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा से टीएमसी में गए बाबुल सुप्रियो भी शामिल हैं।2011 में पार्टी के सत्ता में आने के बाद से यह सबसे बड़े फेरबदलों में से एक होने की संभावना है। पिछले साल राज्य में तीसरी बार सत्ता में तृणमूल के लौटने के बाद मंत्रिमंडल में यह फेरबदल ऐसे समय होने जा रहा है जब पार्टी स्कूल नौकरी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा वरिष्ठ मंत्री पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी को लेकर राजनीतिक रूप से विपक्ष के निशाने पर है।

सुप्रियो के अलावा पार्थ भौमिक, स्नेहाशीष चक्रवर्ती और उदयन गुहा को भी मंत्री बनाया जा सकता है। सीएम ममता बनर्जी ने हाल ही में एसएससी घोटाले में गिरफ्तार पार्थ चटर्जी को मंत्रिमंडल से हटा दिया था। उनके उद्योग विभाग समेत कुछ अहम विभागों के पद रिक्त होने से यह विस्तार सह बदलाव किया जा रहा है।

कुछ मंत्री के बदलेंगे विभाग

ममता बनर्जी ने सोमवार को अपनी पार्टी के संगठन में बड़ा बदलाव किया था और घोषणा की थी कि मंत्रिमंडल में फेरबदल बुधवार को होगा। उन्होंने कहा था कि नए मंत्रिमंडल में चार-पांच नये चेहरे शामिल किए जाएंगे तथा इतने ही वर्तमान मंत्री पार्टी कार्य में लगाए जाएंगे। सोमेन महापात्रा, परेश अधिकारी, चंद्रकांत सिंह और मलय घटक कुछ मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं।

ममता सरकार के मंत्रिमंडल में अभी 21 कैबिनेट मंत्री, 10 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री और नौ राज्यमंत्री हैं। बंगाल में, मानदंडों के अनुसार, 44 मंत्री हो सकते हैं।

Read More : उपराष्ट्रपति चुनाव में NDA उम्मीदवार को बसपा का समर्थन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here