BJP में जाने की खबरों के बीच शिवपाल भंग की प्रसपा की प्रदेश कार्यसमिति

शिवपाल यादव

डिजिटल डेस्क : BJP में जाने की खबरों के बीच शिवपाल यादव ने अपनी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की प्रदेश कार्यसमिति को तत्काल प्रभाव से भंग कर लिया है। इसकी जानकारी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व शिवपाल यादव के बेटे आदित्य यादव ने पत्र जारी कर दी।राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव ने जारी पत्र में लिखा, ‘ प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव के निर्देशानुसार प्रदेश कार्यकारिणी एवं राष्ट्रीय/प्रादेशिक प्रकोष्ठों की कार्यकारिणी अध्यक्ष सहित व संपूर्ण प्रवक्ता मंडल (कार्यवाहक मुख्य प्रवक्ता सहित) को तत्काल प्रभाव से भंग किया जाता है’।

बता दें, शिवपाल यादव जसवंतनगर विधानसभा सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़कर जीते हैं। चुनाव नतीजे आने के बाद अखिलेश ने पार्टी कार्यालय में 26 मार्च को विधायक दल की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में शिवपाल को नहीं बुलाया गया था। शिवपाल का मानना था कि जब वे सपा के टिकट पर विधायक चुनकर आएं हैं तो उन्हें भी सपा विधायक दल की बैठक में बुलाया जाना चाहिए। इससे नाराज होकर, वह इटावा चले गए थे और वहां से दिल्ली जाकर बड़े भाई व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मिलकर अपना दर्द बताया था।

उधर, सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की तरफ से उसी दिन सफाई दी गई थी कि शिवपाल सहयोगी दल के नेता हैं और सहयोगी दल के विधायकों की बैठक में उन्हें भी बुलाया गया। सपा ने 29 मार्च को सहयोगी दल के विधायकों की जब बैठक बुलाई तो शिवपाल उसमें भी नहीं गए।

शिवपाल नाराजगी के चलते 28 और 29 मार्च को न तो शपथ लेने आए और न ही सदन की कार्यवाही में शामिल हुए थे। इसके पीछे यह माना जा रहा था कि अगर इन दिनों में शपथ लेते तो उन्हें सदन की कार्यवाही में शामिल होने पर अखिलेश के साथ बैठना पड़ता। उन्होंने इसीलिए शपथ ग्रहण अलग से लिया।

Read More : Maruti की नई 7 सीटर कार लॉन्च, कीमत ₹8.35 लाख से शुरू, CNG का ऑप्शन भी

शपथ ग्रहण के बाद शिवपाल यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। उनकी और सीएम योगी की करीब आधे घंटे मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी थे। तब से कयास लगाए जा रहे थे कि शिवपाल भाजपा में शामिल हो सकते हैं। हालांकि अभी उन्होंने अभी भाजपा में जाने को लेकर कोई खुल कर बयान नहीं दिया है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि अंदर खाने उनकी भाजपा के बड़े नेताओं से बातचीत चल रही है।