ग्रीस में ओमिक्रॉन का पहला मामला: तीन नकारात्मक परीक्षण रिपोर्ट, चौथा सकारात्मक

rt

 डिजिटल डेस्क : ग्रीस में भी कोरोना के एक नए रूप ओमिक्रॉन की पहचान की गई है। नेशनल पब्लिक हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के प्रमुख थियोकल्स जूटिस ने एक ब्रीफिंग में कहा कि वह ग्रीस से थे और 26 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे। एयरपोर्ट पर उनके एक्सप्रेस का परीक्षण किया गया। फिर उसकी निगेटिव रिपोर्ट आई।अगले दिन उसके हल्के लक्षण देखे गए। इसके बाद भी एक्सप्रेस टेस्ट किया गया लेकिन उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आई। 29 नवंबर को रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उसके वेरिफिकेशन के लिए पीसीआर टेस्ट किया गया। गुरुवार सुबह ओमिक्रॉन को इस मामले की पुष्टि हुई। इसके साथ ही ओमाइक्रोन से संक्रमित देशों की संख्या 31 हो गई है। इन देशों में 38 मरीज मिले हैं।

 अपने संपर्क में आने वाले सभी लोगों को क्वारंटाइन करें

जूटिस ने कहा कि मरीज को संगरोध में रखा गया है। वह जिन लोगों के संपर्क में था, उन्हें भी क्वारंटाइन में रखा गया था। अभी तक सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्हें निगरानी में रखा गया है। हालांकि, इस वेरिएंट को लेकर भी कई सवाल हैं। पहला यह है कि क्या यह पहले पाए गए डेल्टा संस्करण की तुलना में अधिक संक्रामक है। हम इसके बारे में कुछ नहीं जानते। दक्षिण अफ्रीका के आंकड़ों के मुताबिक, यह डेल्टा से ज्यादा संक्रामक नहीं है। दूसरा, इसके प्रभाव क्या हैं। हमें भी इसके बारे में कुछ पता नहीं है। दक्षिण अफ्रीका के डॉक्टरों का कहना है कि लक्षण बहुत हल्के होते हैं। ताजा और सबसे अहम सवाल यह है कि क्या मौजूदा वैक्सीन इस वायरस से लड़ सकती है।

 भारत में भी मिले दो मरीज, एक दुबई लौट रहा था

भारत में दोनों के बीच Omicron वेरिएंट की भी पुष्टि हो गई है। दोनों मरीज कर्नाटक में मिले थे। उनमें से एक 66 वर्षीय विदेशी है, जो हाल ही में दक्षिण अफ्रीका गया था, और दूसरा बोमनहल्ली, बैंगलोर का एक 46 वर्षीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता है। दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। Omicron वेरिएंट की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की गई है। उनके संपर्क में आए एक डॉक्टर सहित छह अन्य लोगों के नमूने सकारात्मक परीक्षण के बाद जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे गए थे।

 भारत सरकार का कहना है कि यह डेल्टा से पांच गुना अधिक संक्रामक है

भारत में ओमाइक्रोन के मरीज मिलने के बाद सरकार को डर है कि कहीं यह फॉर्म तेजी से फैल न जाए। यह डेल्टा से 5 गुना अधिक संक्रामक हो सकता है। हालांकि अभी तक सभी मामलों में हल्के लक्षण ही मिले हैं। देश और दुनिया में अभी तक ऐसे सभी मामलों में कोई गंभीर लक्षण नजर नहीं आया है। WHO इस पर शोध कर रहा है.

 फ्रांस अपने लोगों के लिए दक्षिण अफ्रीका जाने वाली उड़ानों पर से प्रतिबंध हटाएगा

ओमिक्रॉन का मामला सामने आने के बाद कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका के लिए उड़ानें निलंबित कर दीं। इस बीच, फ्रांस ने कहा है कि वह शनिवार से दक्षिण अफ्रीका से उड़ानों को यहां उतरने की अनुमति देगा। हालांकि इस फ्लाइट में सिर्फ फ्रांस और यूरोपियन यूनियन के लोग ही आ सकते हैं। इसके अलावा, राजनयिकों और उड़ान चालक दल के सदस्यों को यात्रा करने की अनुमति होगी।

 आप के बागी विधायक ने दिया इस्तीफा, भविष्य की रणनीति का किया खुलासा

एक आधिकारिक प्रवक्ता गेब्रियल अटल ने कैबिनेट बैठक के बाद कहा कि यात्रियों के आने के बाद कोरोना की जांच करनी होगी. निगेटिव आने पर भी उन्हें 7 दिन क्वारंटाइन में रहना होगा।