राम राज्य में सुरक्षित नही है बेटी !पीलीभीत में गैंगरेप के बाद छात्रा की हत्या

P

डिजिटल डेस्क : उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में 12वीं की एक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई है. बरखेड़ा इलाके में आरोपी छात्रा को खेत में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया. घटना को छिपाने के लिए आरोपी ने बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी। शनिवार देर रात उसका शव घर से 500 मीटर दूर एक खेत में मिला। मृतक के परिजनों ने पुलिस पर घटना में लापरवाही का आरोप लगाया है।

युवती के शरीर के विभिन्न हिस्सों में चोट के निशान हैं। पूरे शरीर में खून बिखरा हुआ था। खेत से कुछ दूरी पर उसकी किताबें, बैग, साइकिल और जूते मिले। पुलिस ने मौके से बीयर की चार बोतलें, नमकीन और सिगरेट के टुकड़े बरामद किए हैं। आशंका जताई जा रही है कि आरोपियों की संख्या दो से अधिक है।

पिता का आरोप : पुलिस जबरन शव को पोस्टमार्टम के लिए ले गई

पीड़िता के पिता ने कहा कि उसकी 16 वर्षीय बेटी शनिवार की सुबह घर से बगल के स्कूल जाने के लिए निकली लेकिन काफी देर तक नहीं लौटी. परिवार ने सोचा कि वह ट्यूशन से सीधे स्कूल गया होगा, लेकिन शाम 5 बजे तक वह नहीं लौटा। आशंका जताई जा रही है कि पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद लड़की का अपहरण किया गया है। पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज करते हुए कहा कि रविवार सुबह मामले की जांच की जाएगी लेकिन किशोरी नहीं मिली।

इसके बाद परिजन आसपास के खेतों में बच्ची की तलाश करने लगे। रात करीब 11 बजे लड़की के भाई ने अपनी बहन की साइकिल को खेत में देखा। पास पहुंचे तो उन्होंने बच्ची का नग्न शरीर देखा। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। लड़की के पिता का आरोप है कि पुलिस जबरन शव को पोस्टमार्टम के लिए ले गई।

सामूहिक दुष्कर्म व हत्या का मामला दर्ज किया गया है

एसपी दिनेश पी के मुताबिक पीड़िता के परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों के आधार पर रेप, मर्डर और पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. मामले की जांच के लिए चार टीमों का गठन किया गया है।

अफगानिस्तान में पाकिस्तान की नई साजिश, जानिए क्या है ये नया प्लान ?

मृतक के परिवार से मिले पूर्व मंत्री

सपा सरकार में मंत्री रहे हेमराज वर्मा ने बच्ची के पिता से मुलाकात कर हर संभव मदद का आश्वासन दिया. वर्मा ने पुलिस और प्रशासन पर लापरवाही का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि समय पर सूचना मिलने के बाद भी पुलिस लड़की का पता नहीं लगा पाई। जब छात्र का शव मिला, तो उसे परिवार के सदस्यों की सहमति के बिना पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। ऐसे में पुलिस-प्रशासन मनमानी करता नजर आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here